DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक भवन में चार स्कूल!

एक भवन में चलते हैं चार स्कूल। इनमें से दो स्कूलों के प्राचार्यो में रो कमरे को लेकर होता है घमासान। शिक्षकों में रो-रो होने वाले झगड़े के कारण अधिकांश बच्चों ने स्कूल आना ही छोड़ दिया है। भवन में कमरों की संख्या16 है। इनमें से चार जर्जर और दो पर एक अधिकारी के चपरासियों ने कब्जा कर रखा है। चारों स्कूलों को मिलाकर छात्र-छात्राओं की कुल संख्या 1180 है। हालात यह है कि एक स्कूल को कोई कमरा उपलब्ध नहीं है।ड्ढr ड्ढr भवन में चलने वाले दूसर स्कूलों के प्रभारी या प्राचार्य की मेहनबानी हुई तो परिसर में बच्चों को बैठने की जगह मिल गई। राजकीय कन्या मध्य विद्यालय, अदालतगंज के भवन में ही राजकीय जेडी बालिका उच्च विद्यालय, राजकीय बालक मध्य विद्यालय, गोलघर पार्क व प्राथमिक झुग्गी-झोपड़ी विद्यालय, गोलघर मुसहर टोली स्कूल चलते हैं। झुग्गी-झोपड़ी स्कूल को कमरा उपलब्ध नहीं है। राजकीय कन्या व राजकीय जेडी स्कूल के प्राचार्यो के बीच कमरे को लेकर घमासान मचा है। राजकीय कन्या मध्य विद्यालय के प्राचार्य शशि शेखर शर्मा ने बताया कि जेडी बालिका की प्राचार्या प्रेमलता 1से जबरन स्कूल के कमरों पर कब्जा जमाए बैठी हैं।ड्ढr ड्ढr उन्होंने बताया कि सरकारी आदेश के अनुसार राजकीय जेडी को मध्य विद्यालय अदालतगंज में प्रात: पाली में स्कूल चलाना है। वहीं राजकीय जेडी बालिका उच्च विद्यालय की प्राचार्या ने बताया कि सरकारी आदेश पर ही वे राजकीय कन्या स्कूल के भवन में स्कूल का संचालन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल के संचालन में राजकीय कन्या स्कूल के प्राचार्य द्वारा व्यवधान पैदा किया जाता है। उधर उप शिक्षा निदेशक माध्यमिक शिक्षा के हस्ताक्षर से निर्गत ज्ञापांक संख्या-1334 दिनांक दो अप्रैल 1में दर्ज मध्य विद्यालय, अदालतगंज का भवन कहां है इस संबंध में कोई अधिकारी अपना मुंह खोलने को तैयार नहीं है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक भवन में चार स्कूल!