अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनमोहन कमजोर पीएम : आडवाणी

भाजपा के वरिष्ठ नेता और एनडीए के पीएम इन वेटिंग लालकृष्ण आडवाणी ने शुक्रवार को बिहार के सासाराम और बक्सर में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए एक बार फिर डॉ मनमोहन सिंह को अब तक का सबसे कमजोर प्रधानमंत्री करार दिया और कहा कि उनकी सरकार रिमोट कंट्रोल से चलती है। उन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार की तारीफों के पुल बांधते उन्हें भााजपाई मुख्यमंत्रियों से भी अव्वल बताया। आडवाणी ने कहा कि जसे-ौसे चुनाव करीब आ रहे हैं, एनडीए मजबूत होता चला जा रहा है, जबिक यूपीए का पूरा कुनबा बिखर चुका है। उन्होंने वादा किया कि केंद्र में एनडीए की सरकार बनी, तो विदेशों में जमा काला धन को वापस लायेंगे। यूपीए पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि वह इंडिया की चिंता करता है, जबकि एनडीए को भारत की चिंता है। कांग्रेस भ्रष्टाचार में सबसे आगे है, इसलिए कभी भी स्विस बैंक से काला धन वापसी की बात नहीं की। इससे पूर्व आडवाणी पत्रकारों से बातचीत में तीसर और चौथे मोर्चे को खारिज करते हुए दावा किया है कि केंद्र में कांग्रस अथवा भाजपा की मदद के बगैर किसी दूसरी सरकार की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। आडवाणी ने कहा कि तीसरा मोर्चा सिर्फ ‘मिथ्या’ है जबकि चौथा मोर्चा काल्पनिक गठजोड़। लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा ही सबसे बड़े पार्टी बनकर उभरगी । हिटी एजेंसी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मनमोहन कमजोर पीएम : आडवाणी