DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोतिहारी कांड का अभियुक्त गिरफ्तार

मुफ्फसिल थाना के मधुबनी घाट की मुखिया के पति सह पूर्व मुखिया नंद लाल प्रसाद हत्याकांड में छापेमारी के लिए सीआरपीएफ, एसटीएफ की चीता टीम व स्थानीय पुलिस को लगाया गया है। टीम ने फकीरा टोला,वरदाहां, खाप, ढेकहां आदि गांवों में छापेमारी की जिसमें यह तथ्य उभरकर सामने आया कि इस कार्रवाई में शिवहर व सीतामढ़ी के भी नक्सली शामिल थे। इनकी धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है। उधर, बुधवार की शाम घटना के नामजद अभियुक्त नवल तिवारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।ड्ढr घटना में मृतक के पिता रामानंद प्रसाद को बेहतर इलाज के लिए पटना रफर कर दिया गया है। वहीं घायलों की चिकित्सा स्थानीय स्तर पर मोतिहारी में की जा रही है। एसपी नैयर हसनैन खां ने बताया कि घटना पूरी तरह से नक्सली वारदात है। इससे इनकार नहीं किया जा सकता। घायलों के बयान पर कई लोगों को नामजद अभियुक्त बताते हुए प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। टारगेट में थे मुखिया पतिड्ढr मोतिहारी (हि.प्र.)। पुरानी रािंश और प्रतिशोध की आग में जल रहा दोस्त नक्सली माओवादियों की शरण में जा मधुबनी घाट के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया पुष्पा देवी के पति नंद लाल प्रसाद को गोलियों से छलनी कर दिया। निशाने पर सिर्फ पूर्व मुखिया थे इसलिए उनकी ही हत्या की गई। घटनास्थल पर पी.एल.जी. उत्तर बिहार जोनल कमिटी के नाम से जारी पर्चे व ग्रामीणों के बयान को एक साथ जोड़ने पर जो तस्वीर उभरती है वह इस घटना के परत दर परत को खोल रही है। घटना को अंजाम देने के लिए माओवादी पकड़ीदयाल से ढेकहां बाराती बनकर आये थे। घटना में करीब एक दर्जन मोटरसाइकिलों का इस्तेमाल हुआ। हथियार, कालीवर्दी व टोपी में लैस थे नक्सली। दो हीरो होंडा व टीवीएस मोटरसाइकिल से दरवाजे तक नक्सली आये और कुछ मोटरसाइकिल को घर से पश्चिम तुतिया पोखरा पर लगाया। नक्सलियों की संख्या 35 से 40 थी। इसकी पुष्टि पुलिस के साथ प्रत्यक्षदर्शी मुखिया के साला पप्पू व बंधक घायल पड़ोसी कैलाश प्रसाद व नगीना प्रसाद भी करते हैं। दोनों भाई घटना की बात सुन चौक स्थित दुकान से घर की ओर जा रहे थे कि दोनों के पैर में गोली मारी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोतिहारी कांड का अभियुक्त गिरफ्तार