अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खानों को और सुरक्षित बनायेगी कोल इंडिया

ोल इंडिया भूमिगत खदानों को और सुरक्षित बनायेगा। इसका संकेत अध्यक्ष पार्थ एस भट्टाचार्य ने दिया है। भूमिगत खदानों में तीन तरह दुर्घटनाएं होती हैं। छत घंस जाता है। पानी भर जाता है और गैस रिसने से आग लग जाती है। अध्यक्ष के अनुसार इनके लक्षण पहले नजर आने लगते हैं। इसका पता लग जाने पर इससे होनेवाली मौत को टाला जा सकता है। आइआइटी खड़गपुर और अन्य तकनीकी संस्थानों के साथ मिल कर टेक्नोलॉजी को अपडेट किया जा रहा है। तकनीक विकसित होते इसे लागू किया जायेगा। इससे इस तरह की दुघर्टना होने की जानकारी पहले ही मिल जायेगी। फिर उससे बचाव के उपाय किये जायेंगे। उन्होंने भूमिगत खदानों में हाल में दुर्घटना रट घटने पर संतोष जताया। हालांकि खुली खदान में इसके बढ़ने पर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि जिस तरह की घटना हो रही है, उसका कोई मतलब नहीं है। रोड एक्सीडेंट जसी घटना होती है। ओबी मशीन पर गिर जाता है। उसे जागरूकता और सावधानी से टाला जा सकता है। समन्वय समिति की बैठक सीसीएल में गुरुवार को सीजीएम-ाीएम समन्वय समिति की बैठक सीएमडी आरपी रिटोलिया की अध्यक्षता में हुई। उन्होंने इस वर्ष 4एमटी उत्पादन लक्ष्य के मद्देनजर भूमिगत खानों से उत्पादन और उत्पादकता बढ़ाने पर जोर दिया। अस्पतालों में दवा देने का निर्देश दिया। सीएसआर नीति के तहत कंपनी द्वारा किये जाने पर कल्याण और सामुदायिक विकास पर भी बल दिया। मौके पर डॉ एके सरकार, आरके साहा, टीके चांद मौजूद थे। रलवे ज्यादा रैक देगा रलवे वर्ष के अंतिम तिमाही में कोल इंडिया को अधिक रैक देने पर सहमत हो गया है। बोर्ड के अध्यक्ष से इस बाबत कोल इंडिया की बात हुई है। उन्होंने कहा कि पहली और तीसरी तिमाही में कोयले का डिस्पैच बढ़ाने का सुझाव दिया। अधिकारियों का कहना है कि खनन उद्योग का यह कैरक्टर है कि वर्ष के अंतिम महीने में ही अधिक उत्पादन होता है। छले जा रहे हैं कामगार द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन के महासचिव सनत मुखर्जी ने कहा कि कोल इंडिया अध्यक्ष पार्थ भट्टाचार्य पर कामगारों को छल रहे हैं। एक तरह वह आनुपातिक वेतन देने की बात करते हैं। दूसरी ओर तकनीकी और गैर तकनीकी का सवाल उठाते हैं। यही स्थिति अधिकारियों के साथ भी है। उसे पहले वहां लागू करं। प्रबंधन की नीति के कारण तकनीकी योग्यता होने पर भी नवनियुक्त आश्रित कटेगरी-1 मजदूर बनते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खानों को और सुरक्षित बनायेगी कोल इंडिया