डेविस कप : भारत के पास सर्बिया को चौंकाने का मौका - डेविस कप : भारत के पास सर्बिया को चौंकाने का मौका DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डेविस कप : भारत के पास सर्बिया को चौंकाने का मौका

डेविस कप : भारत के पास सर्बिया को चौंकाने का मौका

सर्बिया के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे डेविस कप वर्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ मुकाबले के जरिए करीब चार साल बाद भारत के पास एक बार फिर वर्ल्ड ग्रुप में लौटने का बेहतरीन मौका है। सर्बिया के साथ यह मैच 12 से 14 सितंबर के बीच कर्नाटक स्टेट लॉन टेनिस एसोसिएशन (एसएलटीए) स्टेडियम में खेले जाने हैं।

भारत के युकी भांबरी और सर्बिया के डुसान लाजोविक के बीच पहला एकल पहला मैच खेला जाएगा। इसके बाद दूसरा एकल मुकाबला सोमदेव देवबर्मन और फिलिप क्राजिनोविक के बीच होगा।

युगल वर्ग में रविवार को शाम 6:30 बजे से लिएंडर पेस और रोहन बोपन्ना की जोड़ी नेनाद जिमोनजिक और इलिजा बोजोल्जिक से भिड़ेगी। डेविस कप प्लेऑफ टाई रविवार को दो रिवर्स सिंगल्स मुकाबलों के साथ समाप्त होगा। पहला मैच देवबर्मन और लाजोविक जबकि दूसरा भांबरी और क्रांजिनोविक के बीच होगा।

किसी भी टीम ने जारी किए ड्रॉ पर कोई चिंता तो नहीं दिखाई है लेकिन यह संभावना जरूर जताई है कि मुकाबला कांटे का होगा। उल्लेखनीय है कि सर्बियाई एकल खिलाड़ी हालांकि विश्व वरीयता में भारतीय खिलाड़ियों से कहीं ऊपर हैं।

भारतीय टीम के गैर खिलाड़ी कप्तान आनंद अमृतराज ने ड्रॉ के बाद हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मुकाबले की शुरुआत कौन करता है इससे फर्क नहीं पड़ता। मैं हालांकि खुश हूं कि हमारी ओर से इसकी शुरुआत युकी कर रहे हैं।’’

गौरतलब है कि भांबरी की विश्व वरीयता 153वीं है वहीं उनके प्रतिद्वंद्वी 61वें स्थान पर हैं। भांबरी ने कहा, ‘‘यह अच्छा है कि मैं मुकाबले की शुरुआत कर रहा हूं। उम्मीद है कि भारत को 1-0 की बढ़त दिलाने में कामयाब हो सकूंगा।’’

वहीं देवबर्मन (144वीं वरीयता) एकल वर्ग में क्राजिनोविक (107वीं वरीयता) से खेलेंगे। देवबर्मन ने कहा, ‘‘हम दोनों पहले एक-दूसरे के खिलाफ खेल चुके हैं हालांकि वह मैच काफी पहले 2009 में हुए थे। मैं अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की कोशिश करूंगा।’’

वहीं, सर्बिया को जरूर अपने सर्वश्रेष्ठ और विश्व के शीर्ष खिलाड़ी नोवाक जोकोविच की कमी खल सकती है। सर्बिया के अन्य मुख्य खिलाड़ी जोनको टिप्सारेविक और विक्टर ट्रोइकी भी इस टीम में मौजूद नहीं है। ऐसे में पहले दिन सर्बिया अपने युवा खिलाड़ी लाजोविच और क्राजिनोविच पर ही निर्भर होगा।

क्रानिजोविच के अनुसार, ‘‘यह अच्छा है कि हम भारत पहले आ गए। हमने यहां छह दिन गुजारे हैं और यहां के परिस्थितियों में ढल चुके हैं।’’

भारत की खेल रणनीति के बारे में अमृतराज ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों की कोशिश होगी की वे सर्बियाई खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा कोर्ट पर समय बिताने को मजबूर करें।

इसी रणनीति के तहत भारत ने 2010 के वर्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ में ब्राजील से 0-2 से शुरू में पिछड़ने के बावजूद 3-2 की जीत हासिल करने में कामयाब रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डेविस कप : भारत के पास सर्बिया को चौंकाने का मौका