class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगाई पर काबू जल्द : मनमोहन

प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने कहा है कि सरकार आने वाले महीनों में मुद्रास्फीति की दर को थामने में सफल होगी ताकि गरीब और कमजोर तबकों को महंगाई से राहत मिल सके। श्री सिंह ने यहां कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में कहा कि हमें पूरा यकीन है कि हम आगामी महीनों में मुद्रास्फीति को काबू करने के अपने वचन पर खरा उतरंगे। उन्होंने कहा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतों में उछाल आया है। तेल की जो कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में वर्ष 2004 में 35 डॉलर प्रति बैरल थी, वह आज 120 डॉलर प्रति बैरल हो चुकी है। इसी क्रम में खाद्यान्न की कीमतें भी पूर विश्व में बढ़ी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी भरपूर कोशिश रही है कि गरीबों और कमजोर तबकों पर महंगाई की मार न पड़ने दें। हमने पिछले चार सालों में कैरोसिन और एपीजी के दाम को बहुत कम छुआ है। यहां तक कि पेट्रोल और डीाल के दामों में भी बहुत मामूली वृद्धि की है। सरकार बढ़ी हुई कीमतों का भार खुद उठा रही है ताकि गरीब जनता पर इसका असर न पड़ने पाए। प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि इस साल अनाज की अच्छी फसल निश्चित ही खुशी लाएगी। बाद में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुए श्री सिंह ने दावा किया कि कांग्रेस ही राज्य में स्थिर सरकार दे सकती है। उन्होंने कहा कि जनता दल (सेक्युलर) और भारतीय जनता पार्टी की गठबंधन सरकार के दौरान अन्तर्कलह की वजह से राज्य में विकास कार्य पीछे छूट गए हैं। सत्ता पाने के लिए सहयोगी दलों के बीच घटिया दर्जे की प्रतिद्वंद्विता से देश भर में राज्य की छवि भी खराब हुई। प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक ऐसा राज्य है जिस पर भारत को गर्व है। यह विकास के अनेक क्षेत्रों का अगुआ और पथ-निर्धारक रहा है। बेंगलुारु और कर्नाटक ने भारतीय अर्थव्यवस्था में बदलाव लाने और विश्व में भारत की छवि बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। लोगों से विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का समर्थन करने की अपील करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक को दूरदर्शी, गतिशील, स्थिर और जनसमर्थक सरकार की आवश्यकता है। कांग्रेस अकेली ऐसी पार्टी है जो लोगों के लिए सौहार्दपूर्ण और सुरक्षित माहौल सुनिश्चित कर सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगाई पर काबू जल्द : मनमोहन