अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विश्व चैंपियनशिप का प्रैशर अभी से क्यों लूं

वर्ष 2007 आनंद के लिए सपनों जसा था। जिस भी टूर्नामेंट में उन्होंने हिस्सा लिया चैंपियन बनते गए। विश्व चैंपियन भी बने। नम्बर एक का ताज भी उन्हें मिला। उनकी यह उपलब्धियां उन्हें फिर से शतरां ऑस्कर चुनने के लिए काफी थीं। और यह हुआ भी। कल ही उन्हें पांचवीं बार शतरां ऑस्कर चुना गया। इस बार में आनंद ने कहा, ‘इस ऑनर ने मुझे 2007 के सुनहर सफर को याद दिला दिया। हां, इस बात को अब छह महीने हो गए। ये देर से मिली खुशी जसा है।’ विश्वनाथन आनंद एनआईआईटी माइंड चैंपियंस अकादमी के 2008-0सीरीा में हिस्सा ले रहे थे। इस मौके पर आनंद देशभर में एनआईआईटी के 12 सेंटरों पर मौजूद लगभग 300 बच्चों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए रूबरू हुए। एक बच्चे के सवाल पर आनंद ने कहा, ‘महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला मेर आदर्श हैं। इन दोनों महान हस्तियों ने दुनिया को रास्ता दिखाया है। हमें भी इनसे सीख लेनी चाहिए’ इस साल आनंद को व्लादिमिर क्रैमनिक के साथ विश्व चैंपियनशिप मैच खेलना है। इस बार में आनंद ने कहा, ‘विश्व चैंपियनशिप का टेंशन, इमोशंस और क्या रिाल्ट होगा, ये सारी बातें स्टॉक मार्केट में होने वाले उतार-चढ़ाव जसा फील कराती हैं।’ यह विश्व चैंपियनशिप अक्तूबर में बॉन, जर्मनी में खेली जा रही है। मैचफ्ले फॉरमेट में खेलने में क्या कुछ अलग प्रैशर होता है, पूछने पर आनंद कहते हैं, ‘नहीं, एसा नहीं है। मैं कोई प्रैशर फील नहीं कर रहा। हां, इसकी तैयारियां मैंने जरूर शुरू कर दी हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अभी से अपने ऊपर प्रैशर बना लूं। अभी मुझे जून में लियोन, अगस्त में मेंज, सितम्बर में बिलबाओ में खेलना है।’ एक टूर्नामेंट में और मैचप्ले में खेलने में क्या फर्क है, पूछने पर आनंद ने कहा, ‘इस लेवल पर हमें हर फॉरमेट में खेलने की आदत पड़ जाती है। इससे कुछ फर्क नहीं पड़ता कि आप किस फॉरमेट में खेल रहे हैं। मुझे मैचप्ले फॉरमेट में खेलने का भी काफी अनुभव है।’ शतरां के बादशाह विश्वनाथन आनंद को शनिवार को पद्मविभूषण से सम्मानित किया जाएगा। इस अवसर पर उनकी सबसे पसंदीदा हीरोइन माधुरी दीक्षित भी राष्ट्रपति भवन में मौजूद होंगी। माधुरी को पद्मश्री से सम्मानित किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विश्व चैंपियनशिप का प्रैशर अभी से क्यों लूं