DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिजबुल्ला का बेरुत पर कब्जे का दावा

लेबनान में ईरान समर्थित विद्रोही संगठन हिजबुल्ला ने शुक्रवार को सेना के साथ जारी मुठभेड़ के बाद राजधानी बेरूत के मुस्लिम इलाके पर कब्जा करने का दावा किया है, जिसे अमेरिका के समर्थन वाली गठबंधन सरकार ने एक सशस्त्र और खूनी तख्तापलट करार दिया है। हालांकि सरकार ने पूर्ण तख्तापलट जैसे दावों को नकार दिया है। सरकार समर्थित बंदूकधारियों और हिजबुल्ला लड़ाकों के बीच पिछले तीन दिनों से जारी संघर्ष में कम से कम 18 लोग मारे गए हैं और 38 घायल हुए हैं। हिजबुल्ला एक शिया राजनीतिक आंदोलन है, जिसे सीरिया और ईरान का समर्थन प्राप्त है। हिजबुल्ला की अपनी एक शक्ितशाली छापामार सेना है। सरकार और हिजबुल्ला की अगुवाई वाले विपक्ष के बीच पिछले 17 महीनों से जारी राजनीतिक गतिरोध के कारण देश बुरी तरह प्रभावित हुआ है और नवंबर 2007 से देश राष्ट्रपति के बिना चल रहा है। सरकार ने इस सप्ताह हिजबुल्ला के संचार नेटवर्क को नेस्तनाबूद करने के निर्णय लिया था। उसके बाद दोनों पक्षों में खूनी संघर्ष की शुरूआत हुई, जिनसे 1से 10 के बीच हुए गृहयुद्ध की याद ताजा कर दी। हिजबुल्ला का आरोप है कि सरकार ने उसके खिलाफ युद्ध की घोषणा की है। सीरिया विरोधी गठबंधन सरकार ने हिजबुल्ला के इस कदम की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि इसका मकसद ईरान और सीरिया के प्रभाव को बहाल करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिजबुल्ला का बेरुत पर कब्जे का दावा