DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुसाइड नोट से मध्यप्रदेश पुलिस में हड़कंप

मध्य प्रदेश में एक पुलिस निरीक्षक के सुसाइड नोट ने पुलिस महकमे में हड़कंप मचा दी है। सुसाइड नोट में भारतीय पुलिस सेवा के तीन अधिकारियों, दो न्यायाधीशों और एक महिला पुलिसकर्मी के नाम का खुलासा होने से सभी सकते में हैं। भिंड जिले के मालनपुर थाना प्रभारी रमाकान्त वाजपेयी ने बुधवार की सुबह सल्फास की गोलियां खा कर आत्महत्या कर ली थी। वाजपेयी ने मृत्यु से पहले एक पत्र लिख छोड़ा था, जिसमें उसने अपनी मौत की वजह का खुलासा किया है। इस पत्र में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक और एक पुलिस अधीक्षक के साथ महिला पुलिसकर्मी का नाम दर्ज है। राज्य के पुलिस महानिदेशक ए़आऱ पवार ने इस पूरे मामले की जांच कराने का भरोसा दिलाया है। उन्होंने बताया कि यह मामला गंभीर है और कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। जो दोषी होंगे उन्हें किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा। भोपाल में तैनात महिला पुलिसकर्मी कमलेश मिश्रा ने वाजपेयी पर प्रेम विवाह करने का आरोप लगाते हुए तमाम अधिकारियों से शिकायत करने के साथ भरण-पोषण की मांग की थी। पत्र में कहा गया है कि उक्त महिला के साथ-साथ उसे तीनों वरिष्ठ अधिकारी भी प्रताड़ित करते हैं। इस पत्र में दो न्यायाधीशों का भी उल्लेख किया गया है। भिंड के पुलिस अधीक्षक निरंजन बायंगणकर ने इस बात की पुष्टि की है कि वाजपेयी ने जो सुसाइड नोट लिखा है उसमें कई अधिकारियों के नाम हैं और फिलहाल पत्र की जांच कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि वाजपेयी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाली महिला पुलिसकर्मी के खिलाफ जल्दी ही मामला दर्ज किया जाएगा। गौरतलब है कि एक पुलिस अधिकारी द्वारा आत्महत्या के लिए अपने ही विभाग के तीन वरिष्ठ अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराए जाने से पूरे महकमे की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सुसाइड नोट से मध्यप्रदेश पुलिस में हड़कंप