अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमर के आरोप को तवज्चाो नहीं देना वाम

महिलाओं का संसद व विधानसभा में एक तिहाई आरक्षण पर सपा महासचिव अमर सिंह की टिप्पणियों को माकपा ज्यादा अहमियत नहीं देना चाहती। माकपा पोलित ब्यूरो सदस्य बृंदा करात ने कहा कि सपा के इस आरोप का कोई आधार नहीं कि संसद हमें विधेयक पेश कराने की रणनीति में उसे पूछा नहीं गया था। बृंदा का कहना है कि हमारी पार्टी 1से महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण की मांग कर रही है । इस में हमारी नीति कहीं भी छिपी नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी इस बात के पक्ष में भी रही कि महिला आरक्षण पर सभी पार्टियों के बीच संवाद होना चाहिए।गुरुदास दासगुप्ता ने अमर सिंह व सपा के आरोपों को गलत बताया। उनका कहना है कि महिला विरोधी मानसिकता के चलते ही कुछ पार्टियां उन्हें आरक्षण दिए जाने का विरोध कर रही हैं। कोटे के भीतर कोटा तय करने के बार में बृंदा ने कहा कि उनकी पार्टी इस तरह के कोटे के सवाल पर भी खुले मन से बात करने के पक्ष में है और संसद ही इस विषय पर सार्थक व रचनात्मक चर्चा का उचित मंच है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अमर के आरोप को तवज्चाो नहीं देगा वाम