DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मई में ही जून के अनाज का उठाव

मई में जून के भी अनाज का एडवांस उठाव होगा। खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने सभी जिलों को एक सप्ताह के भीतर गोदामों से अनाज उठवाने का आदेश दिया है। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के अनाज से भर गोदामों में जगह बनाने के लिए सरकार ने यह व्यवस्था की है। एडवांस उठाव नहीं करने पर राशन दुकानदार के साथ ही संबंधित क्षेत्र के मार्केटिंग अफसर और प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी पर भी कार्रवाई होगी।ड्ढr ड्ढr दरअसल राज्य में अन्त्योदय योजना के लिए प्रतिमाह 84टन जबकि बीपीएल योजना के लिए प्रतिमाह 1,43,317 टन अनाज की खपत है। दूसरी ओर एफसीआई के 48 गोदाम हैं जिनकी भंडारण क्षमता 5.01 लाख टन है। तमाम गोदाम किसानों से खरीदे गये धान और जन वितरण प्रणाली के अनाज से अटे हैं। नतीजतन किसानों से खरीदे जा रहे गेहूं को रखने के लिए जगह का अभाव हो गया है। अगर मई के साथ जून के भी जविप्र कोटे के अनाज का उठाव हो गया तो गोदामों में साढ़े चार लाख टन अनाज रखने की जगह बन जायेगी। विभाग ने सभी प्रमंडलीय आयुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे राशन दुकानदार को मईमें आवंटित कोटे के बराबर ही एफसीआई और एसएफसी के गोदामों से जून के लिए गेहूं और चावल का उठाव सुनिश्चित कराएं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मई में ही जून के अनाज का उठाव