DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिचाल्ट में रिकार्ड 56 फीसदी की वृद्धि

पूर देश में झारखंड संभवत: एक मात्र ऐसा राज्य है, जहां विगत आठ सालों में मैट्रिक का परिणाम 56 फीसदी बढ़ा है। 2001 में 31.32 फीसदी छात्र सफल रहे थे। वहीं 2008 में सफलता का प्रतिशत 87 तक पहुंच गया। 2002 में 45 फीसदी परीक्षार्थी सफल रहे थे। इसके अगले साल परिणाम में छह फीसदी की गिरावट हुई। इससे सरकार ने गंभीरता से लिया और 747 शिक्षकों पर कार्रवाई कर दी। इसके बाद से निरंतर रिाल्ट में रिकार्ड वृद्धि होती चली गयी। विशेषज्ञ भी इस वृद्धि को पचा नहीं पा रहे हैं। मामला चाहे जो हो, लेकिन कार्रवाई अधीन 747 शिक्षकों में एक उम्मीद की किरण जगी है है कि शायद अब कार्रवाई से मुक्त कर दिया जायेगा। 2004 में 61 फीसदी परिणाम रहा, वहीं 2007 में 83.37 प्रतिशत छात्र सफल हुए। दूसरी ओर छात्रों की संख्या में भी लगातार वृद्धि होती गयी। 2001 में जहां दो लाख परीक्षार्थी शामिल हुए। वहीं 2008 में इसकी संख्या बढ़कर 3.3लाख तक पहुंच गयी। अलग राज्य बनने के बाद से छात्र-छात्राओं में लगातार बाजी मारने की होड़ मची। एक साल छात्राओं के नाम रहा तो दूसर ही साल छात्रों ने अपना परचम लहराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिचाल्ट में रिकार्ड 56 फीसदी की वृद्धि