अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चित्रगुप्त हैं न्याय विशेषज्ञ: शंकराचार्य

भगवान चित्रगुप्त कायस्थ ही नहीं, सनातन धर्मो की आस्था का केंद्र हैं। वह न्याय विशेषज्ञ हैं और बिना किसी इष्र्या द्वेष के न्याय करते हैं। उक्त विचार गोवर्धन मठपुरी के पीठाधीश्वरोगत गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद जी महाराज ने व्यक्त किये। महाराज अशोक नगर स्थित जयपुरियार इन में झारखंड प्रदेश चित्रगुप्त परिवार के तत्वावधान में आयोजित वैवाहिक परिचय सह मिलन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत में स्वतंत्रतापूर्व से अब तक कायस्थों ने एक आदर्श प्रस्तुत किया है। डॉ राजेंद्र प्रसाद, संपूर्णानंद, लाल बहादूर शास्त्री सहित कई ऐसे उदाहरण हैं, जिन्होंने देश को एक संस्कृति प्रदान की है। इसके पहले महाराज श्री ने दीप जलाकर समारोह की शुरुआत की। स्वागत भाषण महापरिवार के अध्यक्ष अलखदेव प्रसाद ने किया। संचालन डॉ पूनम प्रसाद, जयश्री अखौरी, अरुण कुमार सिन्हा ने किया। डॉ मीरा सिन्हा, अर्पिता सिन्हा, ज्योति वर्मा, प्रो वंदना राय, सलीला प्रसाद सहित अन्य लोगों ने जगत गुरु के चरण में माल्र्यापण कर आशीर्वाद प्राप्त किया। समारोह में लगभग 800 बायोडाटा एवं तसवीर का डिसप्ले सीडी के माध्यम से किया गया। इस अवसर पर गरीब परिवारों की सहायता के लिए सामूहिक विवाह पर भी विचार विमर्श किया। कई परिवारों ने दहेा मुक्त विवाह की घोषणा भी की। इस अवसर पर सुनील बरियार, बीकेअंबष्ट, अजय अखौरी, एके लाल, सदन प्रसाद, आलोक रांन श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित है। समापन समारोह आज वैवाहिक परिचय सह मिलन समारोह के समापन के अवसर पर केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय विशिष्ट अतिथि तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री मंत्री यशवंत सिन्हा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चित्रगुप्त हैं न्याय विशेषज्ञ: शंकराचार्य