DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चालसंकट से बुंदेलखंड को मिलेगी मुक्ित

बुंदेलखंड को पानी के संकट से मुक्ित दिलाने के लिए जल निगम ने एक नई योजना तैयार की है। इस योजना के सहार चिल्लाघाट से बाँदा शहर की पेयजल व्यवस्था, माताटीला से झाँसी शहर और उसके कस्बे में ही बरूआसागर से जलापूर्ति की व्यवस्था की जाएगी। इस बीच निगम ने सूखाग्रस्त बुंदेलखंड के सात व विंध्याचल के मिर्जापुर व सोनभद्र जिले में पेयजल संकट हल करने के लिए करीब 2700 निजी नलकूपों को भी ठीक करने का निर्णय लिया है।ड्ढr जल निगम के प्रबंध निदेशक रतन कुमार शर्मा ने पत्रकारवार्ता में बताया कि बुंदेलखंड में 1े बाद से पेयजल की त्राहि-त्राहि है। इसको दूर करने के लिए निगम करीब 1200 करोड़ रुपए की योजना बना रहा है। इसके तहत चिल्लाघाट व माताटीला से पाइपलाइन के सहार पानी लाया जाएगा। महोबा जिले में मध्य प्रदेश के उर्मिल बाँध से पानी लाने की योजना पर काम चल भी रहा है। उन्होंने दावा किया कि करीब 78 करोड़ रुपए की मदद से बुंदेलखंड व विंध्याचल के सूखाग्रस्त दो जिलों में अब कोई भी गाँव ऐसा नहीं बचा है जहाँ पर पानी के संसाधन न हों। करीब दस हाार हैण्डपम्प सही हो चुके हैं, इतने का ही अगले माह लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को पानी देने की शर्त पूरी करने पर 2,700 नलकूपों को भी ठीक किया जाएगा। फिलहाल किसी भी जिलाधिकारी ने अभी तक निगम को इसके लिए प्रस्ताव नहीं दिया है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चालसंकट से बुंदेलखंड को मिलेगी मुक्ित