अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस-पब्लिक में भिड़ंत

रिसियप तथा गोह थाना क्षेत्रों में दो सड़क दुर्घटनाओं में एक स्कूली बच्चे सहित दो लोगों की मौत के बाद रिसियप एवं गोह में ग्रामीणों तथा पुलिस के बीच शनिवार को जम कर हिंसक झड़पें हुईं। अम्बा से प्राप्त सूचना के अनुसार रिसियप थाने के बुमरू गांव के 7 वर्षीय स्कूली छात्र राहुल कुमार की शनिवार की सुबह एक ट्रक (ोएच 01 एफ- 8186) से कुचल कर राजमार्ग पर मौत हो गई जबकि गोह में शुक्रवार की संध्या ट्रैक्टर से कुचल कर एक पंचायत शिक्षक की मौत के बाद शनिवार को ग्रामीणों ने स्थानीय बाजार को बंद करा कर पुलिस के खिलाफ गुस्से का क्षहार किया।ड्ढr ड्ढr स्कूली छात्र की मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर दिया। इस सूचना पर रिसियप थाना प्रभारी सरयू राम सैप के जवानों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए लाठी चार्ज किया जिससे कई ग्रामीणों को चोटें आई और रिसियप निवासी शिवकुमार मेहता का पैर टूट गया । इससे लोगों का गुस्सा और भड़क उठा और उन्होंने पुलिस बल पर हमला कर दिया। पुलिस ने किसी तरह भाग कर जान बचाई। इस क्रम में थाना प्रभारी सहित कई पुलिस कर्मियों को भी चोटें आई। ग्रामीणों ने पुलिस की जीप और ट्रक को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस को बचाव में तीन चक्र हवाई फायरिंग करनी पड़ी। अंतत: एसडीओ जयंत कुमार सिंह तथा एएसपी सुनील कुमार नायक ने घटनास्थल पर पहुंच कर स्थिति पर नियंत्रण किया। ग्रामीण थाना प्रभारी पर कार्रवाई करने, पीड़ित परिवार को मदद तथा स्पीड ब्रेकर के निर्माण के आश्वासन पर शांत हुए।ड्ढr गोह से सं.सू. के अनुसार शुक्रवार की संध्या जगतपति चौक पर ट्रैक्टर के धक्के से एक पंचायत शिक्षक चंद्रशेखर सिंह की मौत के खिलाफ शनिवार को पूरा गोह बाजार बंद रहा तथा गया दाउदनगर एवं शिवगंज उपहारा मुख्य पथ पर यातायात ठप रहा। घटना के विरोध में सैकड़ों पंचायत शिक्षकों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारबाजी की और गोह बाजार को बंद करा दिया साथ ही मुख्य सड़क को जाम कर दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारी थाना में घुस गए तथा पुलिस के खिलाफ जमकर नारबाजी की। वे ट्रैक्टर चालक की गिरफ्तारी नहीं होने पर नाराज थे तथा इस घटना को साजिश का परिणाम बता रहे थे। वैशाली में भीड़ ने दौड़ा-दौड़ा कर पुलिसकर्मियों को पीटाड्ढr महुआ (एसं)। कुशहर में ट्रक के धक्के से गुरुवार की शाम दो युवकों की मौत हो गयी थी। शुक्रवार को उनकी पहचान महुआ चांदसराय निवासी के रूप में होने के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने शनिवार की सुबह गांधी स्मारक चौक को जाम कर दिया। जाम हटाने के क्रम में पुलिस व ग्रामीणों के बीच झड़प हुई। जाम हटाने के लिए पुलिस ने जमकर लाठियां चटकायी। भीड़ ने भी पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। स्थिति को नियंत्रण से बाहर होते देख पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आठ राउंड हवाई फायरिंग की। पुलिस के लाठीचार्ज में मृतक के चाचा समेत आधा दर्जन लोग घायल हो गए। अधिकांश घायलों को पीएमसीएच रफर किया गया। भीड़ द्वारा किए गए पथराव तथा दौड़ा-दौड़ा कर पीटे जाने से महुआ के थानाध्यक्ष समेत एक दर्जन पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं। घायल पुलिस वालों का इलाज स्थानीय अस्पताल में किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr महुआ बाजार शनिवार को पुलिस पब्लिक के बीच हुई भिडं़त के कारण रणभूमि में तब्दील हो गया। फटाफट दुकानें बंद होने लगीं। थानाध्यक्ष साधु शरण ठाकुर, एसआई कौशलेन्द्र झा, नुरुद्दीन खान, सोहराब खान, अरुण कुमार, गयानंद सिंह राठौर, शत्रुध्न साह, बमबहादुर चौधरी, हवलदार साधु चरण महतो के अलावा सैप के भी जवान घायल हो गए। पथराव में सैप के दो जवानों के दांत भी टूट गए। इस दौरान बाजार में भगदड़ मची रही। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। फिर भी गुस्साए लोग अड़े रहे।ड्ढr ड्ढr डीएसपी अरविन्द कुमार गुप्ता, एसडीओ मृत्युंजय कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझा-बुझा कर शांत किया। उन्होंने ट्रक के धक्के से मार गए युवक संतोष कुमार तथा ओमप्रकाश के परिानों को इंदिरा आवास, सामाजिक सुरक्षा लाभ देने का आश्वासन दिया। बाद में डीएम डा. प्रतिमा और एसपी पारसनाथ ने वहां पहुंच कर घटना की जानकारी ली तथा स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर इलाजरत पुलिसकर्मियों का हाल-चाल पूछा। पुलिस की लाठी से घायल चांदसराय निवासी उदय कुमार चौधरी, वासुदेव चौधरी, जगदीश सहनी तथा सुरन्द्र प्रसाद सिंह को पीएमसीएच भेजा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस-पब्लिक में भिड़ंत