अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रिटेन ने पाकिस्तान का अनुरोध किया खारिज

ब्रिटेन ने पाकिस्तान के उस सुझाव को सिरे से खारिज कर दिया है, जिसमें उसने कहा था कि ब्रिटेन में आतंकवादी घटनाएं रोकने के लिए संदिग्ध वीजा आवेदन जांच के लिए उसे सौंपे जाने चाहिए। ब्रिटेन में पाकिस्तान के उच्चायुक्त वाजिद हसन ने यह सुझाव ब्रिटेन में आतंकवादी संगठन अलकायदा से संबंध के आरोप में 11 पाकिस्तानी नागरिकों के पकड़े जाने के बाद दिया है। पकड़े गए सभी पाकिस्तानी छात्र वीजा पर ब्रिटेन आए थे। हसन ने इस्लामाबाद में कहा था कि यदि ब्रिटिश प्रशासन ने इन लोगों को वीजा जारी करने से पहले इनके बारे में हमें सूचित किया होता तो हम जांच कर उन्हें यह बताते कि उन्हें वीजा जारी करें अथवा नहीं। मैं यह सुझाव पहले भी दे चुका हूं कि जिन लोगों के बारे में शक हो उनके बारे में जांच के लिए पाकिस्तानी गृह मंत्रालय को अनुरोध भेजा जाए ताकि संबंधित लोगों के बारे में जांच की जा सके। वहीं ब्रिटेन के आप्रवासी मामलों के मंत्री फिल वूलास ने कहा है कि पाकिस्तान उनके देश के विदेशी छात्रों के बारे में किए जाने वाले जांच पर उंगली उठाकर मुख्य मुद्दे से ध्यान बंटाने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने लंदन में कहा कि पिछले सप्ताह ही विदेशी छात्रों को वीजा जारी करने की प्रक्रिया को और कड़ा कर दिया गया था तथा ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि जिन पाकिस्तानी नागरिकों पर आतंकवादी साजिश में शामिल होने का शक है वे विश्वविद्यालय के छात्र नहीं थे। ड्ढr वूलास ने कहा कि कोई भी केवल आतंकवादी या छात्र नहीं होता। कई बार वे छात्र होने के साथ ही आतंकी गतिविधियों में लिप्त होते हैं। मेरा मानना है कि वीजा जारी किए जाने के बारे में किसी अन्य देश में जांच का मामला उठाकर मुख्य मुद्दे से ध्यान बंटाने की कोशिश की जा रही है। वहीं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री गार्डन ब्राउन ने टेलीविजन चैनल अलजजीरा को दिए साक्षात्कार में कहा है कि अलकायदा का अधिकतर तंत्र पाकिस्तान में स्थित है। पाकिस्तान से संचालित होने वाले आतंकवादियों से निपटने के लिए हमें वहां की सरकार का पूरा सहयोग चाहिए। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन में जांच के दौरान सामने आए सफल अथवा असफल आतंकवादी घटनाआें की साजिश पाकिस्तान में ही रची गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ब्रिटेन ने पाकिस्तान का अनुरोध किया खारिज