class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चौसा बैंक लूटकांड के 66 हजार बरामद

चौसा बैंक लूट कांड के संबंध में स्थानीय मुफस्सिल थाने में दो प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। एसबीआई के बैंक मैनेजर एके पोद्दार ने 4.40 लाख रुपए की लूट की प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कुल आधा दर्जन अज्ञात सशस्त्र अपराधियों को अभियुक्त बनाया है। साथ ही लूट के दौरान बैंक के गार्ड नंद कुमार को गोली मारने का उल्लेख किया है।ड्ढr ड्ढr इधर अपराधियों को पीट-पीटकर मार डाले जाने के संबंध में भी एक प्राथमिकी थानाध्यक्ष के बयान पर दर्ज की गई है, जिसमें भीड़ को चार हत्याओं का जिम्मेदार ठहराया गया है। इधर पुलिस ने 66 हजार बरामद करने का दावा किया है। इस बीच स्टेट बैंक पटना के चीफ मैनेजर ऑपरशन तथा सिक्युरिटी ऑफिसर्स शनिवार को एसबीआई चौसा पहुंचे तथा लूट की तहकीकात करते हुए जानकारियां हासिल की। जोनल ऑफिस से पहुंची टीम में चीफ मैनेजर आपरशन दलजीत सिंह व सर्किल सिक्युरिटी ऑफिसर थे। बैंक लूट कांड के बाद मार गए व जख्मी लुटेरों के अपराध की कुंडली खंगालने में पुलिस जुटी हुई है। इन अपराधियों के एक से बढ़कर एक कारनामे सामने आ रहे हैं। पुलिस अभी ठोरा के मनोज राय को ही कांड का मुख्य सूत्रधार मानकर चल रही है। रल डकैतियों के अलावे अपहरण जैसे संगीन जुर्म भी उसके विरुद्ध पुलिस फाइलों में दर्ज हैं।ड्ढr ड्ढr 0 सेकेंड में 4.40 लाख रुपए लूटे गएड्ढr बक्सर(सं.सू.)। महज 0 सेकेंड के अंदर बैंक से साढ़े चार लाख लूट ले गये बदमाश। प्रतिरोध में गार्ड भी मारा गया। शुक्रवार को चौसा एसबीआई में सारा ‘ऐक्शन’ पलक झपकते हुआ। बैंककर्मियों को न संभलने का मौका मिला और न ही कुछ सोच पाने का। बैंककर्मी दूसर दिन भी दहशत में थे। माहौल में एक अजीब सी बेचैनी साफ महसूस की जा रही थी। बैंक मैनेजर ने सब कुछ सामान्य हो जाने का दावा किया, किंतु बैंक की परिस्थितियां उनकी जुबान की सच्चाई से ठीक उलट दिखी। बैंक के अकाउंटेंट एचआर तिवारी ने बताया कि लुटेरों को यूं तो महज 0 सेकेंड लगे वारदात को अंजाम देने में किंतु वे बैंक में पहले से थे। ग्राहक के वेश में घुसे लुटेरों में एक ग्राहकों की लाइन में खड़ा था।ड्ढr ड्ढr असिस्टेंट जयप्रकाश ने बताया कि कैश काउंटर तक पहुंचते ही ग्राहक के वेश में खड़े लुटेर ने पिस्टल कैश काउंटर में घुसेड़ दी। बगल के दरवाजे से घुसे दूसर लुटेर ने जयप्रकाश को कब्जे में ले लिया। कम्प्यूटर के की बोर्ड पर मुक्का मारते हुए उसे दीवार की तरफ खड़ा कर फायर भी किया। फायर मिस कर गया। बाद में एक लुटेरा मैनेजर के चैंबर में लपका। कब्जे में लेकर बाहर निकला। तब तक एक लुटेरा एयर बैग में रुपए भर चुका था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चौसा बैंक लूटकांड के 66 हजार बरामद