अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया में जूनियर डाक्टरों को पीटा

मरीज की मौत से उबाल खाए परिजनों ने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज अस्पताल के आकस्मिक कक्ष में तोड़फोड़ की एवं इंटर्न चिकित्सकों के साथ मारपीट की। इसके विरोध में इंटर्न 24 घंटे के लिए सांकेतिक हड़ताल पर चले गए हैं। इंटर्नो के हड़ताल पर चले जाने से अस्पताल की स्वास्थ्य व्यवस्था प्रभावित हुई है।बताया गया कि शुक्रवार की मध्य रात्रि औरंगाबाद के एक हृदय रोगी को यहां इलाज के लिए लाया गया था, जिसकी हालत गंभीर थी और उसकी मौत इलाज के दरम्यान हो गई । इसके बाद उनके साथ आए परिजनों एवं अन्य ने प्रशिक्षु चिकित्सकों डा. राजेश कुमार एवं डा. संतोष कुमार सिंह के साथ मारपीट की ।ड्ढr ड्ढr मार खा रहे प्रशिक्षु चिकित्सकों को बचाने आए चतुर्थ वर्गीय कर्मचारी अकील अहमद पर भी आक्रोशित ने अपना गुस्सा झाड़ा और उनपर घातक हथियार से वार किया गया। आक्रोशितों ने आकस्मिक कक्ष में भी तोड़फोड़ की और शीशे फोड़ डाले। साथ ही रक्तचाप मशीन, टार्च, मरीज का कागज (बीएचटी) एवं चिकित्सकों का आला भी उठा ले भागे । इस खबर की सूचना दिए जाने के काफी देर बाद मेडिकल थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची।ड्ढr ड्ढr इधर चिकित्सकों की पिटाई के विरोध में इंटर्न चिकित्सकों ने शनिवार को अस्पताल के मुख्य द्वार के समक्ष नारेबाजी की।इसके अलावा इंटर्न चिकित्सकों ने 24 घंटे की सांकेतिक हड़ताल पर चले जाने से अस्पताल की चिकित्सकीय व्यवस्था पर असर पड़ना शुरू हो गया है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गया में जूनियर डाक्टरों को पीटा