class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

11 मई का रविवार कई मायनों में महत्वपूर्ण है क्योंकि सूर्य खुद नक्षत्र कृतिका में सुबह 7.11 में प्रवेश करंगे। इस दिन भानु सप्तमी भी है। यह दिन शाकद्वीपीय ब्राह्मणों के लिए विशेष महत्व का है। इस दिन विशेष पूजा भी होती है। 11 को ही रविषुष्य योग, सूर्य योग, सर्वाथ सिद्धि योग, यायिजेय योग एक साथ पड़ रहे हैं। इस लिहाज से रविवार की महत्ता बढ़ गयी है। इसी दिन गंगोत्पति की मां गंगा सप्तमी भी है।ो्रख्यात ज्योतिषी अवधेश निर्मलेश पाठक कहते हैं इस दिन श्रद्धालुओं को सूर्य की खास पूजा करनी चाहिए। ऊं घृणि सूर्याय नम: मंत्र का जाप करने से भक्तों को लाभ होता है। वेदों के अनुसार सूर्य की उपासना से न सिर्फ आध्यात्मिक फायदा होता है, बल्कि रोग दु:ख का निवारण भी होता है। इस दिन श्रद्धालुओं को नमक खाने से परहेा करते हुए दान पुण्य करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: