अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक की गठबंधन सरकार टूटने की दिशा में

पाकिस्तान पीपुलस पार्टी (पीपीपी) के सह अघ्यक्ष आसिफ अली जरदारी ने अपदस्थ जजों की बहाली को लेकर पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के साथ गतिरोध बढ़ने की दशा में राष्ट्रीय असेम्बली भंग करने पर गंभीरतापूर्वक विचार करना शुरू कर दिया है। पीपीपी के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि यदि जज बहाली के मुद्दे पर पीपीपी पीएमएल (एन) गठबंधन टूटने की नौबत आई तो राष्ट्रीय असेंबली को भंग किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय असेम्बली संविधान के अनुच्छेद 58-2 (बी) के तहत राष्ट्रपति द्वारा नहीं 1े संविधान बल्कि अनुच्छेद 58 (1) के तहत प्रधानमंत्री की सलाह पर भंग की जाएगी। सूत्रों ने ‘दि न्यूज’ को बताया कि पार्टी में गठबंधन टूटने की दिशा में असेंबली को भंग करने सहित सभी विकल्पों पर लंबी विचार मंत्रणा हुई है। सूत्रों ने बताया कि गठबंधन टूटने की दशा में पीपीपी के पीएमएल (क्यू) और एमक्यूएम जैसे दलों के साथ मिलकर सरकार बनाए रखने के बारे में सोचा गया, लेकिन जरदारी ने कहा है कि वह पीएमएल (क्यू) के साथ हाथ नहीं मिलाएंगे। पीपीपी के कई नेता पीएमएल (क्यू) के साथ हाथ मिलाने को आत्मघाती मानते हैं, जिससे पीपीपी में फूट भी पड़ सकती है। उधर लंदन में जरदारी और पीएमएल (एन0 के नेता नवाज शरीफ के बीच बातचीत में शनिवार की शाम तक ठोस नतीजा नहीं निकल पाने को देखते हुए इसे एक दिन और बढ़ा दिया गया। सूत्रों के अनुसार जरदारी ने 12 मई की मियाद को 20 मई तक बढ़ा देने तथा नवाज शरीफ की बजाय उनके छोटे भाई शाहबाज शरीफ से बात करने की इच्छा व्यक्त की है। पीएमएल (एन) के नेता ख्वाजा आसिफ ने बताया कि पाकिस्तान लौटने के बाद नवाज शरीफ एक संयुक्त वक्तव्य जारी करेंगे। उन्होंने कहा कि पीपीपी ने बैठक के दौरान कोई लिखित दस्तावेज नहीं दिया है। इस बीच पीएमएल (एन) के एक सूत्र ने बताया कि अमेरिकी विदेश विभाग में दक्षिण एवं मध्य एशियाई मामलों के सहायक मंत्री रिचर्ड बाउचर नवाज सशरीफ से मिलेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक की गठबंधन सरकार टूटने की दिशा में