अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

बदली के डर से सख्त हुए हुजूर..ड्ढr कभी कुत्ता के लिए तो कभी बंदर के लिए साहब चर्चा में आ जाते हैं। साहब अपने शरीर की डीलडौल के लिए भी मशहूर हैं। आपको हवाई जहाज और रल में यात्रा करने के लिए डबल सीट की जरूरत पड़ती है। पुराने पायलट रहे हैं, इसलिए जब न तब राज्य के हेलीकॉप्टर पर भी बैठ जाते हैं। जब उड़न खटोले पर बैठते हैं तो पायलट को भारी मुसीबत होती है। उड़न खटोले का भार कम करने के लिए तेल कम भराना पड़ता है। तेल अधिक होगा और साहब भी बैठ जायेंगे, तो हेलीकाप्टर उड़बे नहीं करगा। साहब का नाम सुंदर जल से मिलता-जुलता है। इनके हाथ-पैर में चक्रवर्तियों वाला निशान भी है। साहब हंसमुख भी हैं। कुछ भी कह दें, बुरा नहीं मानते हैं। लोकल हैं। कभी रांची में जिला के मालिक भी थे। इधर सेंटिंग से निकल कर गाड़ी-घोड़ा वाला काम पाये हैं। बहुत दिन तक तो सुस्त रहे, लेकिन जब से चर्चा सुने हैं कि विभागों के हाकिमों की बदली होने वाली है और हो सकता है कि कोड़ा उन पर भी चल जाये, तब से सख्त हुए हैं। सख्ती दिखाने के लिए जहां न तहां गाड़ी घोड़ा चेक करने बैठ जा रहे हैं। ऐसा चेक किये कि पब्लिक हो-हल्ला करने लगी। साहब नरम बनकर धीर से मौके से निकल गये। देखना है कि साहब की यह कड़की उनकी अदला-बदली रुकवा पाती है या नहीं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग