DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फारबिसगंज में करासन के लिए मारपीट

रविवार की सुबह स्थानीय थाना से सटे नाका परिसर में छात्रों के लिए आवंटित किरासन तेल की कालाबजारी के सवाल पर छात्रों तथा कथित कालाबाजारियों के बीच जमकर मारपीट हुई जिसमें कई छात्र जख्मी हो गये। गुस्साये छात्रों ने धिकारियों के खिलाफ नारबाजी करते हुए जमकर हंगामा मचाया तथा रोषपूर्ण प्रदर्शन किया। दिलचस्प यह कि स्थानीय पुलिस की नाक के नीचे घटी इस घटना की सुधि लेने कोई भी पुलिस पदाधिकारी नहीं पहुंचे।ड्ढr ड्ढr स्थानीय नाका परिसर में सुबह छात्रों के लिए आवंटित 1540 लीटर तेल के सात ड्रामों को खाली देख छात्र बेकाबू हो गये तथा हो-हंगामा करने लगे जिसको लेकर छात्रों तथा बिचौलियों के बीच जमकर झड़प में कई छात्र घायल हो गये। छात्रों में हेमंत देव, खुर्शीद, प्रकाश कुमार, सुमित, सुरश, दिनेश, प्रभात, नसीम राा आदि ने बताया कि छात्रों के लिए प्रतिमाह 21 ड्राम तेल का आवंटन होता है। जिसे महीने में तीन बार वितरण किया जाना है। उन्होंने आरोप लगाया कि किरासन तेल उनलोगों को नहीं मिल पाता है। वितरण के लिए आए ड्रामों में 220 लीटर की जगह मात्र 50-60 लीटर तेल ही रहता है। घायल छात्र रसीद आलम तथा सुमित कुमार ने बताया कि तेल मांगने पर हॉकर के साथ आए गंडानुमा लोगों ने उनलोगों को बेरहमी से पीटा जबकि पुलिस प्रशासन इतना हो-हल्ला के बाद भी देखने नहीं आया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फारबिसगंज में करासन के लिए मारपीट