class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब राकांपा के निशाने पर संप्रग

ेंद्रीय कृषि और खाद्य मंत्री शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का कहना है कि संप्रग सरकार लोगों की अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य नहीं कर रही है और कांग्रेस गठबंधन के लाभों को सहयोगी दलों के साथ बांटने में विश्वास नहीं रखती है। राकांपा ने रविवार को राजधानी में अपनी राष्ट्रीय समिति की बैठक में एक राजनीतिक प्रस्ताव पारित किया जिसमें देश को कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ तीसरा विकल्प देने की नीति अपनाने की बात कहीएवं लोकतांत्रिक दलों को शामिल करने का सुझाव है।ड्ढr ड्ढr पार्टी ने पवार को गैर कांग्रेसी गैर भाजपाई राष्ट्रीय राजनीतिक विकल्प खड़ा करने के लिए समान विचारधारा वाले दलों के साथ तालमेल बढ़ाने के प्रयास तेज करने के लिए अधिकृत किया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि देश में एक पार्टी के शासन का युग बीत चुका है व केंद्र और राज्यों में गठबंधनों की सरकारों का युग है। महिला आरक्षण विधेयक पर राजनीतिक प्रस्ताव में कहा गया है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि सार्वजनिक तौर पर विधेयक का समर्थन करने वाले दल इस विधेयक को संसद में पारित होने से रोकने के लिए कोई न कोई बहाना ढूंढ़ लेते हैं। सरकार से आग्रह किया गया है कि इस विधेयक पर चर्चा को यह कह कर अब और न टाला जाए कि विधेयक पर आम सहमति नहीं बन सकी। इसे मौजूदा रूप में ही संसद के आगामी सत्र में पारित कराया जाए। प्रस्ताव में कहा गया है कि पार्टी भविष्य में होने वाले संसदीय और राज्य विधानसभा चुनावों में महिला उम्मीदवारों को 33 प्रतिशत आरक्षण देगी। नक्सलवाद की समस्या पर राकांपा का मानना है कि इस समस्या का समाधान केवल पुलिस कार्रवाई या टकराव के माध्यम से नहीं किया जा सकता। तेजी से बढ़ती कीमतें और महंगाई को रोकने के लिए राकांपा ने सरकार से बाजार में हस्तक्षेप करने की अपील की है।ड्ढr ड्ढr राकांपा ने कांग्रेस को आगाह किया है कि वह परमाणु समझौते को आगे बढ़ाने के लिए सरकार और सत्तारूढ़ गठबंधन को दांव पर नहीं लगाएं। पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने सरकार को चेताया कि परमाणु समझौते को तभी आगे बढ़ाया जाना चाहिए जब वामदल इस पर अपनी सहमति दे दे। पवार ने कहा कि जब उन्होंने कृषि मंत्रालय का कार्यभार संभाला उस समय भारतीय कृषि की स्थिति संतोषजनक नहीं थी। देश के कुछ भागों में सूखे से पीड़ित छोटे किसानों की आर्थिक दशा बहुत खराब थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब राकांपा के निशाने पर संप्रग