class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदाताओं से कैसे होंगे रू- ब-रू

प्रदेश कांग्रेस ने राज्य में चुनावी तैयारी आरंभ कर दी है। विधानसभा प्रभारियों से संभावित उम्मीदवारों के नाम मांगे जा रहे हैं। इसके लिए 16 को प्रदेश मुख्यालय में बैठक बुलायी गयी है। एक से 15 जून तक विधानसभा क्षेत्रों में सम्मेलन की घोषणा की गयी है, ताकि मतदाताओं के नजदीक पहुंचा जा सके।ड्ढr इन सारी मशक्कतों पर उस समय विराम लग जाता है, जब बारी आती है मतदाताओं से सामना करने की। राज्य की यूपीए सरकार को हर मोरचे पर विफल बताने वाली कांग्रेस को वोटरों से रू-ब-रू होना काफी कठिन महसूस हो रहा है। कांग्रेस नेताओं से वोटर सीधा सवाल करंगे कि विफल घोषित सरकार को समर्थन जारी रखने की आखिर क्या मजबूरी है। 175 दिन से कांग्रेस बस एक ही राग आलाप रही है। भ्रष्टाचार और विकास के मुद्दे पर मधु कोड़ा के नेतृत्व वाली सरकार विफल रही है। पार्टी के प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने चार माह पूर्व सरकार से जल्द ही समर्थन वापस लेने की बात कही थी। सहयोगी दलों से बातचीत किये बगैर बड़ी-बड़ी डींगे हांकने से कांग्रेस की मिट्टी पलीद हो रही है। प्रदेश के नेता भी दबी जुबान से कहते हैं कि पिछले चार माह में कांग्रेस का ग्राफ काफी गिरा है। इससे वोटरों को विश्वास में कैसे लिया जाये। दो दिन पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचू ने बयान दिया कि राज्य में कभी भी चुनाव हो सकते हैं। बरसात के पहले चुनावी तैयारी पूरी कर ली जाये। प्रदेश पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को वोटरों के बीच जाने का आदेश दिया गया है। वोटर कांग्रेस की चाल से खफा हैं। उन्हें विश्वास में लेना पार्टीजनों के लिए आसान नहीं होगा।ड्ढr तंवर 16 को रांची आयेंगेड्ढr युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक तंवर 16 मई को रांची आयेंगे। उनके साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सह युवा कांग्रेस प्रभारी जीतेंद्र सिंह भी आयेंगे। दोनों नेता रांची में होनेवाले टैलेंट सर्च कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव सह युवा कांग्रेस प्रभारी राहुल गांधी ने देश के युवाओं को राजनीति में लाने के उद्देश्य से टैलेंट सर्च कार्यक्रम शुरू किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मतदाताओं से कैसे होंगे रू- ब-रू