DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पावन कार्य को अंजाम तक पहुंचायें : यशवंत सिन्हा

दिल मिलाने और रिश्ते बनाने की मुहिम को निरंतर आगे बढ़ाने के संकल्प के साथ झारखंड प्रदेश चित्रगुप्त महापरिवार का दो दिवसीय चित्रांश वैवाहिक परिचय सह मिलन समारोह रविवार को संपन्न हो गया। वैवाहिक परिचय सह मिलन समारोह में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। श्री सिन्हा ने महापरिवार के इस प्रयास की सराहना की और कहा कि इस अभियान को वे अंजाम तक पहुंचाये। यह बड़ा ही पावन कार्य है। इसमें सभी लोगों की सहभागिता जरूरी है। उन्होंने कहा कि इस प्रयास से निश्चित रूप से दहेा प्रथा पर रोक लगेगी। अशोक नगर स्थित जयपुरियार इन में आयोजित समापन समारोह में केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि समाज असुरक्षा के दौर से गुजर रहा है। समाज के लोगों को सिर्फ नौकरी ही नहीं, योग्यता का उपयोग अन्य क्षेत्रों में भी करना चाहिये। उन्होंने समाज की सहायता के लिए स्वयं सहायता समूह की तर्ज पर बैंकिंग सिस्टम बनाने पर जोर दिया। उन्होंने भविष्य में आयोजित होने पर सामूहिक विवाह कार्यक्रम में भी सहयोग का आश्वासन दिया।ड्ढr स्वागत भाषण में महापरिवार के अध्यक्ष अलखदेव प्रसाद ने बताया कि बायोडाटा एवं फोटो पसंद करनेवाले परिवारों के बीच आपसी बातचीत चल रही है। रिश्ता तय होने पर यदि दोनों पक्ष के लोगों की सहमति बनी, तो सामूहिक विवाह का कार्यक्रम शीघ्र ही तय किया जायेगा। समारोह को मनोज सिन्हा, लाला राधिकारमण सिन्हा, डॉ सीबी सहाय, महेंद्र प्रसाद सहित अन्य लोगों ने संबोधित किया। धन्यवाद ज्ञापन प्रणव कुमार बब्बू ने किया। समारोह में मुख्य रूप से अमित खर, डॉ राघव शरण, डॉ आनंद भूषण,ाय शंकर जयपुरियार, अजय अखौरी, सुनील श्रीवास्तव सहित काफी लोग उपस्थित थे।ड्ढr आरक्षण है राजनीतिक मजबूरी : सिन्हा पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने कहा कि आरक्षण राजनीतिक मजबूरी है। इसे खत्म करने का मुद्दा संस्थाओं को उठाना चाहिये। किसी भी दल के लिए आरक्षण समाप्त करने का मुद्दा उठाया जाना मुश्किल है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पावन कार्य को अंजाम तक पहुंचायें : यशवंत सिन्हा