अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज ठाकर पर व्यंग्य

लोग चाहे कितना भी क्यों न कहें किन्तु राज ठाकरे जी ! मैं आप पर व्यंग्य नहीं लिख सकता। माना कि आप राजनीति के मंच से अपनी वाणी कौशल (?) का प्रदर्शन नियमित रूप कर रहे हैं। यह भी माना कि यह कौशल आप में कूट-कूटकर और पीस-पीसकर भरा है, तो क्या हम आप पर व्यंग्य लिखना शुरू कर दें? आम सभाओं में आप अपने मधुर प्रवचनों के दौरान बड़ी-बड़़ी हस्तियों के लिए जिन संस्कारित शब्दों और सुन्दर अलंकारों का प्रयोग करते हैं उनस कई छुटभैए नेताओं को एक नई प्रेरणा मिल रही है। मेरे मोहल्ल के ही कई छोटे-मोटे तथाकथित नेतागण बेचारे इसलिए आगे नहीं बढ़ पा रहे थे, क्योंकि उनकी भाषा शैली मंच पर बोलने लायक नहीं होती थी। पर अब देखिए! आपकी शैली को सुनकर उनके चेहरे पर ऐसी चमक आ गई है कि उसमें आप अपना चेहरा भी देख सकते है। अब तो वे उल्टा उन नेताओं को मुँह चिढ़ा रहे हैं, जो अभी तक हिन्दी की व्याकरण में से टीपकर किताबी भाषा का उपयोग करते आये हैं। उन्हें क्या पता था कि आपकी व्याकरण ही इतनी अधिक पापुलर हो जाएगी? अब बताइये! आप इन नेताओं के लिए प्रेरणादीप हैं या नहीं़.़.़.। आपको पब्लिसिटी स्टंट करने का तरीका आता है तो इसमें बुराई ही क्या है? क्रिकेट खिलाड़ी यदि ‘थप्पड़बाजी’ करके नाम कमाएंँ ता कुछ नहीं और आपने ‘भाषणबाजी’ से जरा सा नाम कर लिया तो लोगों को अखरने लगा? सोचिए ! यदि न्यूज चैनल वालों ने आपके भाषण को सुनाते वक्त बीच-बीच में ‘बीप’ की ध्वनि नहीं फंसाई होती तो आज आपका पब्लिसिटी लेवल कहां पहुंच गया होता? जब आप किसी बड़े पद पर आ जाएं तो इन न्यूज चैनलों के खिलाफ कार्रवाई जरूर कीजिएगा। राजनीति में आकर अपन को तो पब्लिसिटी लेवल की ही चिंता करना है, क्योंकि जहाँ तक भाषा के लेवल का सवाल है तो वैसे भी वह कौन-सा अंतरिक्ष में हिलोरे ले रहा है? वह गिरते-गिरते जमीन तक तो पहुँच ही गया है।ड्ढr हम तो मानते हैं कि राजनीति में ’राज’ जैसा अजूबा मिलना मुश्किल है जो मिमिक्री तक कर लेता है। लोगों की मानसिकता तो देखिए। आपके इस गुण में भी उन्हें दोष नजर आ रहा है। मिमिक्री के बाकी कलाकार जब अमिताभ जी, शत्रु जी और लालू जी की नकल उतारते हैं तब तो बहुत मजा आता है! आपने इनकी नकल उतार दी तो सभी को पेट दुखने लगा! आप ‘फ्री’ में जो मनोरंजन उपलब्ध करवा रहे हैं, वह कितना मूल्यवान है? यह आपकी समाजसेवा ही तो है। इसलिए मैंने डिसाईड कर लिया है कि आपके खिलाफ मैं एक शब्द भी नहीं लिखूंगा।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज ठाकर पर व्यंग्य