DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किचन से निकलिए, काम पर चलिए

राज्य की पढ़ी-लिखी महिलाओं के लिए खुशखबरी ! बहुत हो गया, अब बंद कीािये चूल्हा फूंकना। निकलिये किचेन से और तैयारी कीािये दफ्तर की। सरकार ने आपको नौकरी देने के लिए एक खूबसूरत योजना बनायी है। नौकरी के लिए आयोजित प्रतियोगिता में सफल होने के लायक आपके पास मेधा नहीं है तब भी कोई बात नहीं। सरकार आपको प्रशिक्षित कर इसके लायक बनायेगी।ड्ढr ड्ढr शर्त यही है कि आपकी सालाना आय 60 हाार से कम हो। राज्य में पहली बार लागू की गई इस योजना के तहत चयनित पढ़ी-लिखी महिलाओं को हाउस कीपिंग, ऑफिस मैनेजमेंट और सेल्स मैनेजमेंट आदि का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसकी जिम्मेवारी राज्य महिला विकास निगम को दी गई है। निगम किसी प्रतिष्ठित कोचिंग या प्रशिक्षण संस्थान को यह काम सौंपेगा जो निर्धारित अवधि में उन्हें प्रशिक्षित कर उनमें सरकारी या गैर सरकारी नौकरी प्राप्त करने की गुणवत्ता विकसित करगा। उसी संस्था की यह भी जिम्मेवारी होगी कि प्रशिक्षित महिलाओं में कम से कम 80 प्रतिशत महिलाओं को नियोजित कराये। समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव विजय प्रकाश ने बताया कि इस योजना के संचालन के लिए एजेन्सी का चुनाव सरकार द्वारा निविदा आमंत्रित कर किया जायेगा। महिलाओं के चयन में विधवाओं, अनाथ, बालगृह या सुधारगृह की निवासी एवं विकलांगों को प्राथमिकता दी जायेगी। चयन में आरक्षण के नियमों का भी पालन किया जायेगा। महिला विकास निगम की परियोजना निदेशक इरिना सिन्हा ने बताया कि विभिन्न प्रशिक्षणों के लिए अलग- अलग शैक्षिक योगयता निर्धारित की जायेगी। सरकार का मानना है कि उचित डिग्रियां प्राप्त करने के बाद भी महिलाओं की मेधा क्षमता सेवा प्रक्षेत्र में सफलता के लिए उपयुक्त नहीं होती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किचन से निकलिए, काम पर चलिए