DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार की हकमारी कर रहा केंद्र : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरोप लगाया है कि केन्द्र बिहार की हकमारी कर रहा है। सोमवार को जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते वर्ष सूबे में भीषण बाढ़ आई। राज्य सरकार ने अपने संसाधन से राहत कार्य किए। बर्बादी के आकलन के लिए केन्द्रीय अधिकारियों के दल के बिहार आने के बाद राज्य सरकार ने उन्हें पूरी रिपोर्ट दी। राज्य सरकार ने जो खर्च किया वह राशि भी केन्द्र ने अबतक नहीं दी है, अतिरिक्त सहायता की तो बात ही छोड़ दीजिए। इस मसले पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी सहयोग का भरोसा दिया था।ड्ढr ड्ढr उन्होंने तीन लाख टन अनाज देने का निर्देश भी दिया। पहले चरण में 1.5 लाख टन अनाज जारी भी किया गया, लेकिन बिहार को मात्र 1.10 लाट टन ही आवंटित हो पाया। बस इतनी प्रक्रिया कर केन्द्र ने अपनी जिम्मेवारी निभा ली। अब सर पर इस वर्ष की तबाही का खतरा मंडरा रहा है। 15 जून को मॉनसून दस्तक दे देगा। इतने दिनों तक केन्द्र से पैसा नहीं मिलना चिन्ताजनक है। हालांकि उन्होंने यह भी विश्वास व्यक्त किया कि अगर इस वर्ष भी बाढ़ आई तो वे उसी मुस्तैदी से उससे लड़ेंगे। आसन्न संकट का डटकर मुकाबला किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिहार की हकमारी कर रहा केंद्र : नीतीश