DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

20अगस्त को सात करोड़ सरकारी कर्मचारी करेंगे हड़ताल

आसमान छूती महंगाई पर नियंत्रण में सरकार की पूर्ण विफलता, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को बंद करने की साजिश और चोर दरवाजे से औद्योगिक घरानों को खुदरा बाजार में प्रवेश देने के खिलाफ 20 अगस्त को सात करोड़ से भी यादा कर्मचारी एक दिन की हड़ताल करेंगे जिसमें रेल, हवाई सेवा, बैंकिंग, बीमा और अन्य आवश्यक सेवाएं भी प्रभावित हो सकती हैं। ट्रेड यूनियनों के राष्ट्रीय सम्मेलन की समाप्ति पर ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) के महासचिव गुरुदास दासगुप्ता ने कहा कि जितनी जल्दी मनमोहन सिंह सरकार जाएगी उतना ही बेहतर होगा क्योंकि यह सरकार न केवल मजदूर विरोधी बल्कि जनविरोधी भी है। लोकसभा में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के नेता दासगुप्ता ने कहा कि वह ऐसा कदम उठाने के लिए मजबूर हैं क्योकि संसद के अंदर और बाहर उनकी दस सूत्री मांगों पर सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंगी। सेंटर ऑफ इंडिया ट्रेड यूनियन (सीटू) के अध्यक्ष एमके पांधे ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह हड़ताल देश भर में आयोजित की जाएगी हांलाकि इसके असर से आपातकालीन सेवाआें जैसे अस्पताल या दमकल सेवाआें को मुक्त रखा गया है। उन्होंने कहा कि यह हड़ताल छठे वेतन आयोग की नकारात्मक सिफारिशों, ठेकेदारी की बढ़ती प्रवृत्ति, काम करने की जगहों पर स्थाई कर्मचरियों को नियुक्ित नहीं करने एवं बाहर से काम कराने (आउटसोसिर्ग) का विरोध जताने के लिए आयोजित की जा रही है। पांधे ने कहा कि न्यूनतम वेतन के मूल कानून, काम के घंटे, सामजिक सुरक्षा के प्रावधानों का नियोक्ता खुलेआम उल्लघंन कर रहें है। उनके इस काम में प्रशासन की सहभागिता और संरक्षण उन्हें मिला हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 20अगस्त को सात करोड़ सरकारी कर्मचारी करेंगे हड़ताल