DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नानावटी ने थप्पड़ मामले की रिपोर्ट बीसीसीआई को सौंपी

हरभजन सिंह और शांत कुमारन श्रीसंत थप्पड़ मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई द्वारा नियुक्त किए गए अपील कमिश्नर सुधीर नानावटी ने मंगलवार को अपनी रिपोर्ट बोर्ड के अनुशासनात्मक समिति को सौंप दी। नानावटी ने रिपोर्ट सौंपने के बाद यहां संवाददाताआें को बताया कि चूंकि मुझे बीसीसीआई के नियम 32 के तहत केवल इस घटना की जांच के लिए नियुक्त किया गया था इसलिए मैं खिलाड़ियों को किसी प्रकार की सजा की अनुशंसा नहीं कर सकता। हालांकि उन्होंने साथ ही हरभजन की तरफदारी करते हुए कहा कि हरभजन को पहले ही बहुत यादा सजा मिल चुकी है तथा उन्हें आईपीएल के 11 मैचों से प्रतिबंधित कर दिया गया था। नानावटी ने कहा कि मुझे थप्पड़ मामले में केवल अपनी रिपोर्ट बोर्ड अध्यक्ष शरद पवार को सौंपनी थी और वह इसे अनुशासनात्मक समिति को सौंपेगें। इसके बाद समिति ही इस मामले मे ंदोषी पाए गए व्यक्ित के खिलाफ सजा का निर्धारण करेगी। उन्होंने कहा कि हालांकि यह समिति पर निर्भर करता है कि वह दोषी खिलाड़ी को बख्श दे। उन्होंने कहा कि हरभजन का थप्पड़ मारना पूर्वनियोजित नहीं था बल्कि उन्हें उकसाया गया था और वह गुस्से में ऐसा कर गए। इसके लिए पहले ही उन्हें आईपीएल में खेलने से प्रतिबंधित कर दिया गया है और मुझे नहीं लगता कि उन्हें और सजा की जरूरत है। उल्लेखनीय है कि थप्पड़ विवाद मामले में नानावटी ने हरभजन और श्रीसंत के साथ साथ मैच रेफरी फारुख इंजीनियर, मैदानी अंपायरों अलीम डार और अमीश साहिबा के बयान लिए थे। इसके बाद उन्होंने 14 पन्नों की रिपोर्ट तैयार की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: थप्पड़ मामले की रिपोर्ट बीसीसीआई को सौंपी