DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में टूटते रिश्ते

पाकिस्तान में अब जो हो रहा है उसे ही हम राजनीति कहते हैं। लोकतंत्र की बहाली और सत्ता के बंटवार के बाद हालात को इस ओर जाना ही था। वहां के ताजा घटनाक्रम में इससे ज्यादा कुछ नहीं पढ़ा जाना चाहिए। मामला जहां फंसा है वह जजों की बहाली का तकनीकी पेंच है। और दूसरी ओर जज जस्टिस चौधरी को लेकर पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी यानी पीपीपी में आनाकानी है। नवाज शरीफ ने इसे एक मुद्दा तो बनाया है लेकिन इसे लेकर उनकी पार्टी महा मंत्रिमंडल ही छोड़ रही है, सत्तारूढ़ गठाोड़ से अलग नहीं हो रही। नवाज शरीफ जानते हैं कि जनता की हमदर्दी अभी भी उन जजों के साथ है जिन्हें परवेज मुशर्फ ने बर्खास्त किया था। आगे के सफर के लिए इस हमदर्दी को वे अपने राजनैतिक आधार में जोड़ना चाहते हैं। एक बात उन्होंने चुनाव के तुरंत बाद ही समझ ली थी कि यह उनका सेमीफाइनल है। इसका इस्तेमाल वे पाक राजनीति से परवेज मुशर्फ को अप्रासंगिक करने के लिए करना चाहते हैं। जजों की बहाली इसी कोशिश का ही एक हिस्सा है। इससे वे उन वकीलों के प्रभावशाली तबके को भी अपने साथ जोड़ सकते हैं, जिन्होंने उस इलाके में अपना आंदोलन चलाया था जहां नवाज शरीफ की पार्टी खासी मजबूत है। मुमकिन है कि कुछ समय बाद वे सत्ता के गठाोड़ से भी हाथ खींच लें। एक सोच यह भी है कि अगर पाकिस्तान के दो सबसे बड़े दल एक साथ रहें तो विपक्ष में कोई और बड़ी ताकत न आकार लेने लगे। विपक्ष के मैदान को शायद वे किसी और ताकत के लिए न छोड़ना चाहें। लेकिन पाकिस्तान में इस तरह की राजनीति के खतर भी बहुत बड़े हैं। बड़ी मुशकिल से पाकिस्तान में लोकतंत्र यहां तक पंहुचा है। डर यह है कि इस तरह के स्वांग से कहीं लोगों का मन राजनीतिज्ञों से ही न उचट जाए। हालांकि इससे बड़ा खतरा दूसरा है। डर यह है कि इस तरह की राजनीति कहीं किसी को लोकतंत्र खत्म करने का बहाना न दे दे। जिस फौाी हुकूमत से इतनी लंबी लड़ाई के बाद पाक आवाम ने मुक्ति पाई है, वहीं फिर से कहीं वापसी का रास्ता न तलाश ले। इस खतर के प्रति जरदारी और शरीफ दोनों को ही सचेत रहना होगा। दलगत राजनीति करने से तो खर वे नहीं बच सकते लेकिन ऐसा पुख्ता इंतजाम तो करना ही होगा ताकि आवाम को लगे लोकतंत्र उसका भला कर रहा है। इसी में उन दोनों का भी हित है और पाकिस्तान का भी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक में टूटते रिश्ते