DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगे हो सकते हैं एफएमसीजी उत्पाद

देश में एफएमसीजी उत्पादों की कीमतों में फिर से बढ़ोतरी हो सकती है। सूत्रों के अनुसार इस क्षेत्र की बड़ी कंपनियों ने इसके लिए मन बना लिया है। 82,000 करोड़ रुपये के एफएमसीजी उद्योग में कीमतें बढ़ाने का दूसरा दौर शुरू हो गया है। टाटा टी लि. अपने सभी ब्रांड की कीमतें इसी माह बढ़ा रहा है, जबकि आईटीसी अपने चुनिंदा ब्रांडों की कीमतें बढ़ा रहा है। एफएमसीजी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इमामी अपने हेयर अयल ब्रांडों की कीमतें बढ़ा चुकी है तथा मैरिको अपने चुनिंदा ब्रांडों की कीमतें बढ़ाने कीक्रया में हैं। उद्योग के विश्लेषकों का कहना है कि एफएमसीजी उद्योग पर इस वर्ष महंगाई तथा निर्माण लागत बढ़ने की दोहरी मार पड़ रही है, इसलिए उन्हें अपने उत्पादों की कीमतें बढ़ानी पड़ रही हैं। मैरिको के अनुसार मैरिको की कीमतों को सुधारने की रणन्ीाति के तहत हम हेयर ऑयल ब्रांड सहित कुछ उत्पादों की कीमतें बढ़ा रहे हैं। इमामी अपने नवरत्न हेयर ऑयल के सैशे की कीमत 50 फीसदी बढ़ाकर एक रुपये से डेढ़ रुपया कर चुका है। टाटा टी अपने उत्पादों की कीमतें बढ़ाने की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा कि हम अपने सभी उत्पादों की कीमल 4 से 6 रुपये प्रति किलो बढ़ा रहे हैं।ड्ढr आईटीसी फूड ने बताया कि हम निर्माण लागत बढ़ने से अपने चुनिंदा उत्पादों की कीमत 5 से 6 प्रतिशत बढ़ा रहे हैं। गत माह प्रमुख एफएमसीजी कंपनी गोदरा कंयूमर प्रोडक्ट्स, डाबर इंडिया तथा केविन केयर ने लाभ मार्जिन बढ़ाने के लिए कीमतें बढ़ाईं थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महंगे हो सकते हैं एफएमसीजी उत्पाद