अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक:सोम को स्वात शांति समझौता संसद में होगा पेश

पाकिस्तान के स्वात घाटी में इस्लामिक कानून लागू करने में हो रही देरी से तहरीक-ए-निफाज-ए-शरीयत के नेताआें की नाराजगी और स्वात शांति समझौते से हटने की धमकी से परेशान सरकार सोमवार को इस समझौते को मंजूरी के लिए संसद में पेश करेगी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने मुल्तान में पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वह स्वात शांति समझौते पर पूरे देश को विश्वास में लेने के लिए इसे संसद में प्रस्तुत करेंगे। स्वात में इस्लामिक कानून निजा में आदिल लागू करने में हो रही देरी से तहरीक-ए-निफाज-ए-शरीयत के नेता मौलाना सूफी मोहम्मद ने समझौते से हटने की धमकी दी थी। इसके बाद सरकार तुरंत हरकत में आ गई अैर शुक्रवार को सरकार के एक प्रतिनिधिमंडल ने मौलाना सूफी मोहम्मद के प्रतिनिधियों से बटखेला में मुलाकात की और दो दौर की बातचीत के बाद उन्हें शांति समझौता बनाए रखने पर राजी कर लिया। हालांकि सूफी मोहम्मद ने उनसे मिलने से इन्कार कर दिया था। स्वात में सक्रिय तालिबानी नेता मुल्ला फजलुल्ला के श्वसुर सूफी मोहम्मद और सरकार के बीच शांति समझौता 16 फरवरी को हुआ था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सोम को स्वात शांति समझौता संसद में होगा पेश