DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल जीत कर आएंगे: डेयरडेविल्स

‘आईपीएल दिल्ली में होती तो अच्छा रहता, दक्षिण अफ्रीका में हमारा उत्साह बढ़ाने वाले लोग नहीं होंगे। मैच भी वहां दिन में होंगे। पिछली बार हम सेमीफाइनल में हार गए थे, हमारा इरादा इस बार दिल्ली के लिए आईपीएल जीत कर आने का है।’ दिल्ली डेयरडेविल्स के तीन धुरंधरों, विरन्दर सहवाग, गौतम गंभीर और अमित मिश्रा ने शनिवार को फिरोशाह कोटला स्टेडियम के प्रैक्िटस ऐरिना में कड़कती धूप में एक सुर में यह बात कही। डेयरडेविल्स के कप्तान सहवाग ने दक्षिण अफ्रीका के अपने अनुभव पर भरोसा जताते हुए कहा,‘मैं वहां पांच-छह बार जा चुका हूं। मुझे वहां के मौसम, पिचों और माहौल के बार में पूरी जानकारी है। इसलिए कोई दिक्कत नहीं आएगी।’ सहवाग ने कहा कि हमने न्यूजीलैंड में 20-20 मैच में सबसे ज्यादा छक्के मारने का रिकॉर्ड बनाया था, उम्मीद है कि आईपीएल में हम इस रिकॉर्ड को तोड़ देंगे। क्रिकेट की बाइबिल मानीजाने वाली पत्रिका विजडन में सहवाग को वर्ष 2008 का ‘प्लेयर आफ द ईयर’ के खिताब दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए देश के लिए खेलना बड़े सम्मान की बात है। मुझे इसकी परवाह नहीं होती कि किसी दूसर देश वाले मुझे क्या देते हैं। क्योंकि मैं आज जो कुछ भी हूं देश के कारण हूं। इस पर मुझे गर्व होता है।’ भारतीय टीम में दिल्ली के तीन खिलाड़ियों (सहवाग, गंभीर और इशांत शर्मा) के होने पर सहवाग ने कहा, ‘हम तीन खिलाड़ी भारतीय टीम को अपना योगदान दे रहे हैं और क्या चाहिए। हम चाहेंगे कि आगे भी ऐसा ही होता रहे।’ कोका कोला इंडिया की तरफ से आयोजित दिल्ली डेयरडेविल्स के विदाई समारोह में दिल्ली दिल से कांटेस्ट के पांच विजेताओं ने सहवाग, गंभीर और मिश्रा को टी शर्ट भेंट की। इन तीनों ने बेस्ट ऑफ लक बल्ले पर ऑटोग्रॉफ भी दिए। इस मौके पर कोका कोला के वाईस प्रेसिडेंट अकील मोहम्मद, और मन्सूर सिद्दिकी मौजूद थे। गंभीर इस कंपनी के ब्रैंड एम्बेस्डर हैं। सहवाग ने न्यूजीलैंड में एक मैच में पहले ही ओवर में 1रन बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मैं ऐसे ही खेलता हूं। मेरी यही आदत है या तो ढेर सारा रन बना दूंगा या फिर आउट हो जाता हूं। न्यूजीलैंड में मैदान छोटे थे और वहां मिसहिट भी छक्के के लिए चली जाती है और जो शॉट सही कनेक्ट हो जाए तो फिर वह तो छक्के के लिए जाएगा ही।’ उन्होंने कहा, ‘नेपियर में टेस्ट में फॉलोऑन के बाद भी कभी ऐसा नहीं लगा कि हम हार जाएंगे। हमार पास सचिन, गंभीर, मैं, लक्ष्मण और द्रविड़ जसे बल्लेबाज हैं जो दो दिन आराम से बल्लेबाजी कर सकते हैं। हमें कभी भी ऐसा नहीं लग रहा था कि हम वहां टेस्ट हार जाएंगे। ये ऐसी स्थिति में कई बार मैच बचा चुके हैं।’ न्यूजीलैंड में खेले गए दूसरे क्रिकेट टेस्ट में न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान मार्टिन क्रो द्वारा उनकी कप्तानी की आलोचना के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मुझे इस बारे में पता नहीं है। आपसे ही जानकारी मिल रही है, क्योंकि वहां न मैंने अखबार पढ़े, न कमेंट्री सुनी।लेकिन मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि दूसरे लोग क्या कहते हैं।’ दाएं हाथ के इस विस्फोटक ओपनर ने कहा, हम आस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन चुके थे। इसलिए मुझे भरोसा था कि हम यहां भी ऐसा कर सकते हैं। सहवाग ने गंभीर को सुनील गावसकर के बाद बेहतरीन ओपनर कहने के सवाल पर कहा,‘ मैं खुद को ओपनर मानता ही नहीं। मैं तो मध्यक्रम का बल्लेबाज था लेकिन पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने मुझसे ओपनिंग कराई और उनका यह नुस्खा चल निकला और अब लोग मुझे ओपनर बल्लेबाज मानने लगे हैं लेकिन सच कहूं तो मैं अभी भी खुद को ओपनर नहीं मानता हूं। ओपनर बल्लेबाज तो गंभीर हैं। जो क्रिकेट हर फॉर्मेट में ताबड़तोड़ रन बनाए जा रहें है। वह खुद को इस खेल के हर संस्करण में ढाल लेते हैं और फिर रनों का अंबार लगा देते हैं।’ न्यूजीलैंड में एक ही मैच में आठ नौ कैच छोड़ने के बारे में सहवाग ने कहा, ‘ये खेल का हिस्सा है। आप इस तरह से देखें कि इतने कैच छोड़ कर भी हम जीत गए, अगर ये कैच पकड़ लिए होते तो तीन दिन में ही टेस्ट जीत लेते। हम इस कमी को सुधारने की कोशिश करंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईपीएल जीत कर आएंगे: डेयरडेविल्स