DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं शुरू हो सकी गवाही

चहरी सीरियल बम विस्फोट के चारों आरोपित आतंकियों को बुधवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अपर जिला जज तृतीय रामकृष्ण गौतम की अदालत में पेश किया गया। आरोपित आतंकियों के अधिवक्ता सुरक्षा न मिलने के कारण यहाँ नहीं आ सके। इस पर आतंकियों ने अदालत से सुनवाई के लिए मौका माँगा। वहीं अभियोजन पक्ष के गवाह की बीमारी का हवाला देकर सुनवाई टालने की प्रार्थना की गई। अदालत ने अगली तारीख 28 मई तय कर चारों आरोपितों को तलब किया है। अभियोजन पक्ष की ओर से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता ईश्वर चन्द्र तिवारी मौजूद रहे।ड्ढr कड़ी सुरक्षा में वज्र वाहन से कचहरी सीरियल विस्फोट के चारों आरोपितों खालिद मुजाहिद, तारिक काजमी, मोहम्मद अख्तर व सज्जादुर्रहमान को कचहरी लाया गया। जयपुर की घटना के बाद सतर्क पुलिस ने अदालत परिसर के इर्द-गिर्द कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी। पुलिस ने अदालत परिसर को मोटे रस्सों से घेर कर वहाँ आने-ााने पर प्रतिबंध लगाया था।ड्ढr डॉन से नहीं हुई सुभाष ठाकुर की मुलाकातड्ढr वाराणसी। लम्बे समय तक मुम्बई के अंडरवर्ल्ड में दाउद इब्राहिम के सहयोगी के रूप सक्रिय और जरायम जगत में बृजेश के बड़े भाई कहे जाने वाले सुभाष ठाकुर को बुधवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट (द्वितीय) कोर्ट में पेश किया गया। देर से आने के कारण सुभाष की सुनवाई नहीं हो सकी। मजिस्ट्रेट ने गुरुवार को सुभाष को पेश करने के निर्देश दिए हैं। आगरा की सेन्ट्रल जेल में निरुद्ध सुभाष को मुम्बई के जेजे हास्पिटल हत्याकांड में सजा सुनाई जा चुकी है जबकि बृजेश का मामला लंबित है। बुधवार को दोनों की पेशी के चलते आमना-सामना होने की संभावना थी लेकिन बृजेश के बीमार होने के कारण एसा नहीं हो सका। उधर, माफिया डॉन बृजेश सिंह की बुधवार को गैंगस्टर कोर्ट में पेशी बीमारी के चलते टल गई। अगली सुनवाई 26 मई को होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नहीं शुरू हो सकी गवाही