अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हूचाी ने मचायी जयपुर में तबाही

ायपुर में मंगलवार की शाम हुए सीरियल बम धमाकों में आरडीएक्स का इस्तेमाल किया गया था। अब तक हुई जांच पड़ताल में इन धमाकों के पीछे बंग्लादेश के आतंकवादी संगठन हरकत-उल-ोहादी इस्लामी (हूाी) का ही हाथ होने के पक्के संकेत मिले हैं। इसमें हूजी के दो आतंकी शमीम और मधु बंगाली का नाम आया है। इस बीच राजस्थान पुलिस ने बुधवार की शाम विस्फोट के संदिग्ध के स्केच जारी कर दिये। गेहूंये रंग के इस युवक की उम्र 25 के करीब है। इस मामले में संदेह एक महिला पर भी किया जा रहा है। मीना नाम की इस महिला की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है। धमाकों के सिलसिले में पुलिस ने अब तक एक घायल समेत आठ लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ जारी है।ड्ढr ड्ढr राजस्थान पुलिस और खुफिया शाखा की सात टीमें मामले की पड़ताल कर रही हैं। राजस्थान के एडीाी, अपराध ए.के.ौन ने बताया कि आतंकियों ने बमों को साइकिलों में फिट किया था और विस्फोट के लिए टाइमर का इस्तेमाल किया गया। ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने के लिए बमों को बाल बेयरिंग और लोहे के छोटे-छोटे टुकड़ों के साथ फिट किया गया था। एडीाी ने कहा कि जयपुर में हुए विस्फोट और पिछले साल नवम्बर में उत्तर प्रदेश में वाराणसी व फैााबाद की अदालतों में हुए विस्फोट बिल्कुल एक जसे थे। चूंकि यूपी मेंहुए विस्फोटों के पीछे हूाी का हाथ था इससे यह शक और पुख्ता हो गया है कि जयपुर का अमन-चैन छीनने की साजिश भी इसी आतंकी संगठन की है। शांति बनाए रखने के लिए जयपुर के 15 पुलिस थानों में सुबह बजे से शाम 6 बजे तक कफ्यरू लगाया गया। एहतियात के लिए प्रभावित क्षेत्रों में आरपीएफ भी तैनात की गई है। विहिप व आरएसएस के बुधवार को राजस्थान बंद के आह्वान पर अधिकांश प्रतिष्ठान बंद रहे। उधर धमाकों में मार गए लोगों की संख्या 85 तक पहुंच गई है लेकिन आधिकारिक रूप से यह संख्या 63 बतायी गई है। इस ब्लास्ट में मुजफ्फरपुर की गुड़िया की दुनिया भी उाड़ गयी। गुड़िया का पति रवि कुमार मंडल (23 वर्ष) जयपुर के त्रिपोलिया बाजार पर आतंकी हमले में मारा गया है। रवि मूलत: शिवहर जिला के तरियानी-छपरा गांव का निवासी था। बुधवार की सुबह जयपुर से यह सूचना मिलते ही गुड़िया के मैके सिकंदरपुर मुहल्ले में कोहराम मच गया। राज्य की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि इन धमाकों के पीछे अन्तरराष्ट्रीय आतंकी संगठन का हाथ है। इस बीच केन्द्र ने जयपुर विस्फोट के सिलसिले में अहम सुराग मिलने का दावा किया है। केंद्रीय गृहमंत्री शिवराज पाटिल ने बुधवार को कहा कि सरकार को विस्फोट करने वाले आतंकवादी संगठन के बारे में ठोस जानकारी मिली है। हालांकि उन्होंने इसका खुलासा करने से मना कर दिया। इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने विस्फोटों में मारे गए लोगों के परिजनों को एक-एक लाख रुपए तथा गंभीर रूप से घायलों को पचास-पचास हजार रुपए की मदद की बुधवार को घोषणा की। राज्य सरकार पहले ही मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपए तथा घायलों को एक-एक लाख रुपए देने की घोषणा की थी। दूसरी ओर इस मुद्दे पर अब राजनीति भी शुरू हो गई है। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने विस्फोट स्थलों का दौरा करने के बाद विस्फोटों को रोक पाने के लिए राजस्थान सरकार को सीधे तौर पर दोषी ठहराए बिना कहा कि केन्द्र ने राज्य सरकार को आतंकवादी हमले की गुप्तचर रिपोटरे के बारे में सचेत कर दिया था। जबकि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे ने केन्द्र सरकार पर आंतकवाद से निपटने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम नहीं करने का आरोप लगाया हैं। श्रीमती राजे ने कहा कि केन्द्र सरकार की गुप्तचर ऐजेंसियों ने आंतकवादी घटना की पुख्ता सूचना नहीं दी थी। जायसवाल ने इसे आतंकवादी घटना माना लेकिन किसी आतंकवादी संगठन का नाम लिए बिना कहा कि हूजी, लश्करे तोयबा तथा अन्य आतंकवादी संगठन भारत में अस्थिरता फैलाने की साजिश कर रहे है। उन्होंने कहा कि इस तरह की साजिशों के तार पड़ोसी देशों से जुड़े हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हूचाी ने मचायी जयपुर में तबाही