अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फौचाी ट्रेनिंग लेते हैं नक्सली

भारत में सक्रिय माओवादी संगठन सेनाओं से लड़ने की तैयारी में जुटे प्रतीत हो रहे हैं। झारखंड से गिरफ्तार भाकपा माओ पोलित ब्यूरों के वरिष्ठतम सदस्य प्रमोद मिश्रा से पुलिस को जो सूचनाएं मिल रही हैं उनमें यह एक चौंकाने वाली सूचना है। पुलिस के अनुसार प्रमोद मिश्र के पास से बरामद दस्तावेजों, सीडी आदि से इस बात का खुलासा हुआ है कि भाकपा माओ के पास उत्कृष्ट क ोटि की सैन्य प्रशिक्षण व्यवस्था है।ड्ढr ड्ढr विशेषकर आग्नेयास्त्रों के इस्तेमाल, उनकी तकनीक, बनावट, कार्यशैली यहां तक कि फायर की गई गोली पर गुरूत्व के प्रभाव तक पर विस्तृत तकनीकी जानकारियां भाकपा माओ अपने दस्ते को उपलब्ध करा रही है। इसके अतिरिक्त मैप रीडिंग, कंटूर मैप का प्रयोग, हमले की तकनीकें, चांद सितारों के सहार दिशा ज्ञान, कंपास रीडिंग जसी तकनीकी जानकारी कंप्यूटर के जरिए सशस्त्र दस्तों को सिखाई जा रही हैं। कुछ ऐसे भी दस्तावेज पुलिस के हाथ लगे हैं जिनसे यह पता चलता है कि भाकपा माओ विदेशों से भी प्रशिक्षण तकनीकें आयात कर रही है। कुछ नक्शों और प्रशिक्षण सीडी पर अंकित दिशा-निर्देश विदेशी भाषाओं में दर्शाए गए हैं। पुलिस को हथियारों के बार में भी ऐसे दस्तावेज मिले हैं जिनसे पता चलता है कि हथियारों के मामले में यह किसी भी अंतराष्ट्रीय संगठन से पीछे नहीं है। यह तैयारियां किसी भी तरह सैनिकों के प्रशिक्षण शैली से कम प्रतीत नहीं होतीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फौचाी ट्रेनिंग लेते हैं नक्सली