अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिवानंद-काली कोर्ट में हुए हाजिर

ादयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानंद तिवारी व लोजपा प्रवक्ता काली प्रसाद पाण्डेय गुरुवार को कोर्ट में हाजिर हुए।ड्ढr निषेधाज्ञा उल्लंघन के विचाराधीन मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट गिरीश मिश्र ने उक्त नेताओं समेत अन्य आरोपितों को दोष का सारांश सुनाया जिससे इन लोगों ने इनकार किया। श्री तिवारी व पाण्डेय के साथ जिला जदयू के अध्यक्ष सदानंद सिंह, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष मनदेव तिवारी, जदयू नेता व जिला पार्षद प्रमोद कुमार पटेल तथा प्रसिद्ध नारायण मिश्र भी इस मामले में आरोपित हैं। वर्ष में जिले के देवापुर में पूर्व मंत्री ब्रजकिशोर नारायण की मूत्तर्ि के शिलान्यास समारोह का आयोजन कर चुनाव के दौरान लागू निषेधाज्ञा के उल्लंघन का उक्त नेताओं पर आरोप है। तत्कालीन एसडीओ गणेश प्रसाद सिंह ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। श्री तिवारी के वकील दारोगा सिंह नंबर 2 व अन्य पार्टी कार्यकत्त्रा उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr दो नक्सलियों की हत्याड्ढr औरंगाबादनवीनगर अम्बा (हि.टी.)। भाकपा माओ के टंडवा इलाके के एरिया कमांडर राजीव रांन उर्फ कुंदन उर्फ फादर की बुधवार की रात उसके एक समर्थक बैजनाथ साव की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। उनके शव झारखंड- बिहार सीमा पर सोनडीहा और बरौली गांवों के समीप जंगलों में पाए गए जिन्हें झारखंड के हुसैनाबाद थाने की पुलिस ले गई। बताया जाता है कि कुंदन टंडवा थाना क्षेत्र के गजना गांव में अपने समर्थक व्यवसाई बैजनाथ साव के घर में ठहरा हुआ था तभी कुछ हथियारबंद लोग वहां पहुंचे और दोनों को पकड़ कर झारखंड की सीमा की ओर ले गए। बाद में उनके शव पाए गए।ड्ढr ड्ढr पहले तो माना जा रहा था कि कुंदन की हत्या भाकपा माओ के प्रतिद्वंदी संगठन टीपीसी द्वारा की गई है लेकिन औरंगाबाद के एएसपी सुनील कुमार नायक का कहना है कि पुलिस को अब तक मिले संकेतों के अनुसार इस हत्या के पीछे स्वयं भाकपा माओं के अम्बा थाना क्षेत्र के एरिया कमांडर एनुल मियां का हाथ है जिसकी दुश्मनी लेवी वसूली को लेकर पहले से कुंदन के साथ चल रही थी। पुलिस का कहना है कि माओवादी नेता रघु और राजेन्द्र की गिरफ्तारी के पीछे भी एनुल मियां का हाथ होने की बात प्रकाश में आई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिवानंद-काली कोर्ट में हुए हाजिर