अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तलाशी के नाम पर पुलिस ने ढाया कहर

थानीय थाना क्षेत्र के धनंजयपुर गांव में बुधवार की रात्रि पुलिस ने तलाशी के नाम पर कहर बरपाया। न सिर्फ महिलाओं से र्दुव्‍यवहार किया गया, बल्कि उनके जेवरात भी ले लिए गए। साथ ही एक दस वर्षीया बालिका को पुलिसकर्मियों ने खाट से उठाकर पटक दिया, जिसका हाल में आपरशन हुआ था।विरोध में उग्र ग्रामीणों ने घंटों सड़क जाम कर दिया।ड्ढr ड्ढr जानकारी के अनुसार, गत बुधवार की रात्रि स्थानीय पुलिस ने धनंजयपुर मठिया गांव निवासी भरत राजभर, ढेमन राजभर, हीरा राजभर, मुनी लाल राजभर, श्याम लाल राजभर, मंगरु राजभर आदि के घरों में तलाशी ली। इस दौरान पुलिस ने अपनी वर्दी की रौब जमाते हुए महिलाओं के साथ र्दुव्‍यवहार किया। साथ ही एक दस वर्षीया बीमार बालिका को भी खाट पर से उठाकर फेंक डाला। चिंताजनक हालत में उसे कृष्णाब्रह्म अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस संबंध में महिलाओं ने बताया कि पुलिस घर के अंदर रखे सार सामान को तितर-बितर करते हुए छोटक राजभर की पत्नी लचीया देवी के जेवरात भी अपने साथ ले गई। पुलिस की कार्रवाई से क्षुब्ध ग्रामीणों ने गुरुवार अहले सुबह से लेकर शाम तक पुराना भोजपुर से सिमरी प्रखंड मुख्यालय को जानेवाली सड़क को जाम रखा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तलाशी के नाम पर पुलिस ने ढाया कहर