DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संघ ने बाहर से आनेवाली एम्बुलेंसों को भी रोका

बिहार प्रदेश एम्बुलेंस सेवा संघ की हड़ताल गुरुवार को भी जारी रही । संघ द्वारा बाहर से मरीज लेकर आनेवाले एम्बुलेंसों को भी राजधानी में रोककर रखा गया। शहर के प्रमुख निजी अस्पतालों में सेवाएं दे रहे एम्बुलेंस संचालकों ने सेवाएं ठप कर दी। शुक्रवार को राजधानी के सभी एम्बुलेंसों को गांधी मैदान में पार्क कर संघ विरोध जाताएगा।ड्ढr ड्ढr संघ के अध्यक्ष अशोक कुमार सिंह ने बताया कि एम्बुलेंस चलाने के लिए परिवहन विभाग द्वारा परमिट लेने की व्यवस्था की गयी है। दूसर राज्यों में ऐसी व्यवस्था नहीं है। परमिट के नाम पर 10 हजार रुपये का हर्जाना लिया जाता है। इसकी कोई रसीद नहीं दी जाती। उन्होंने कहा कि मरीज की सेवा में लगी गाड़ियों से पुल, स्टेशन और हवाई अड्डा पर शुल्क वसूला जाता है। एम्बुलेंस के लिए शहर में कोई भी स्टैंड नहीं दिया गया है। सड़क किनार एम्बुलेंस लगाने पर स्थानीय पुलिस द्वारा धरपकड़ कर अवैध वसूली की जाती है। इसके विरोध में निजी एम्बुलेंस संचालकों ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि कुर्जी होली फैमिली अस्पताल, महावीर कैंसर संस्थान, मगध अस्पताल, राजेश्वर अस्पताल में सेवा दे रहे निजी एम्बुलेंस की सेवाएं दो दिनों से ठप कर दी गयी है। जो एम्बुलेंस जहां हैं वहीं पर खड़ा रखने का फैसला किया गया है। गुरुवार को आईजीआईएमएस और पीएमसीएच परिसर में 50-50 एम्बुलेंस पार्क कर दिया गया। शुक्रवार को सभी एम्बुलेंसों को गांधी मैदान में विरोध के लिए लगाया जाएगा। एम्बुलेंस संचालकों ने इस मामले को लेकर परिवहन आयुक्त से मुलाकात करने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि परिवहन आयुक्त से मुलाकात नहीं हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संघ ने बाहर से आनेवाली एम्बुलेंसों को भी रोका