DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूस की दुकान खोलेंगे आईआईएम के ग्रेजुएट

आइआइएम अहमदाबाद के स्नातक गया, बिहार के रहने वाले सिद्धार्थ जायसवाल ने नौकरी का प्रस्ताव ठकुरा दिया। इसी संस्थान के छात्र दिल्ली के इरफान आलम अभी दिल्ली में सम्मान फाउंडेशन चलाते हैं पर जल्दी ही इसे छोड़ देंगे। केएस स्कूल आफ बिजनेस मैनजमेंट राजकोट के स्नातक राजन पटेल अहमदाबाद में ही एक प्लेसमेंट एजेंसी चलाते हैं पर जल्दी ही वे यह काम छोड़ देंगे।ड्ढr ड्ढr चौथे आइआइएम के ग्रेजुएट अभी बहुराष्ट्रीय कंपनी में नौकरी कर रहे हैं-वह जल्दी ही उसे छोड़ देंगे। और ये चारों कुशल और विश्वस्तरीय प्रबंधक जून में यहां जूस की दुकान शुरू करंगे। नौकरी की मानसिकता से उबर कर इन चारों ने भविष्य के प्रबंधकों को एक नयी राह दिखायी है। नवरंगपुरा के सीजी रोड में यह दुकान जून तक चालू हो जायेगी। इस दुकान में ताजा फलों के रस के साथ पराठे और सैंडविचेज भी मिलेंगे। आम, काजू, बेल जसे पारंपरिक फलों के साथ तरह-तरह के आइस टी और दूसर ड्रिंक्स भी मिलेंगे।ड्ढr ड्ढr बहुराष्ट्रीय कंपनियों की नौकरी ठुकराने वाले दिल्ली के इरफान आलम और सिद्धार्थ जायसवाल ने बताया कि जूस की बिक्री देश में बिल्कुल असंगठित है। ज्यादतर समय लोग सड़क के किनार खड़े होकर जूस पीते दिखेंगे। हम लोगों के जूस पीने का इंतजाम एक आरामदायक रस्त्रां में कर रहे हैं। और उनके जूस पीने का अंदाज बदल देंगे। इसमें साथ देने वाले तीसर ग्रेजुएट हैं केएस स्कूल आफ बिजनेस मैनेजमेंट राजकोट के राजन पटेल। इरफान दिल्ली में अभी सम्मान फाउंडेशन नाम की कंपनी चलाते है और राजन पटेल अहमदाबाद में ही प्लेसमेंट सेल चलाते हैं।ड्ढr सिद्धार्थ जायसवाल और राजन पटेल सोसायटी फार दि प्रमोशन आफ इंडियन क्लासिकल म्यूजिक एंड कल्चर एमंग यूथ्स के सक्रिय सदस्य भी हैं। इनके चौथे साथी एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करते हैं उनका नाम उन्होंने अभी नहीं खोला है क्योंकि इससे उन्हें नौकरी छोड़ने में दिक्कत हो सकती है। इन चारों को आंटरप्रीन्यूअरशिप डेवलपमेंट इंस्टिट्यूट आफ इंडिया ने उद्यम स्थापित करने में सहायता की। सीजी रोड पर इन्होंने 650 वर्गफीट जगह किराये पर ली है और चार पेशेवर कुक बहाल किये हैँ। जून के लिए इनकी तैयारी पूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जूस की दुकान खोलेंगे आईआईएम के ग्रेजुएट