DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत 13 साल बाद फाइनल में

किसी को उम्मीद नहीं थी कि भारत फाइनल तक का सफर पूरा कर लेगा। खुद कोच ए.के. बंसल तक को नहीं। मलयेशिया रवाना होने से पूर्व कोच ने कहा था, हम जसा भी प्रदर्शन करंगे, हमारे लिए अनुभव हासिल करने जसा होगा। एसा लग रहा है हॉकी की तस्वीर एकदम बदल गई है। 13 साल बाद भारत अजलान शाह हॉकी के फाइनल में पहुंचा है। कुछ समय पहले ही भारतीय हॉकी के सुनहर इतिहास में एक काला पन्ना जुड़ गया था। भारत बीजिंग ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर सका था। उसके बाद से भारतीय हॉकी को लेकर बहुत कुछ कहा-सुना जाने लगा। जब यह सब चल रहा था, इसी दौरान एक डेवलेपमेंट टीम सोनीपत में तैयार हो रही थी। वही आज भारतीय हॉकी को फिर पटरी पर लाने में सफल हुई है। अजलान शाह हॉकी के अंतिम लीग मैच में मेजबान मलयेशिया को 2-1 से हराकर वह फाइनल में पहुंच गया है जहां उसका मुकाबला अर्जेटीना से होगा। पहले हाफ के पहले 10 मिनट में ही भारत ने 2-0 की बढ़त ले ली थी।ड्ढr इस लीड को भारत ने मैच के अंतिम क्षणों तक बनाए रखा। हां, मलयेशिया के लिए एकमात्र गोल मैच के इसी अंतिम क्षण में मोहम्मद अमीन रहीम ने किया। इस जीत से भारत के छह मैचों में 12 अंक हो गए। वह अर्जेटीना (14) के बाद तालिका में दूसर नम्बर पर है। लीग मैच में भारत अर्जेटीना से हार चुका है। पहले दो मैच हारने के बाद से भारत ने विजय अभियान जारी रखा है। यह भारत की लगातार चौथी जीत है। भारत ने आज मलयेशिया पर दबाव बनाए रखा। शुरू में ही सुनील को गोल करने का गोल्डन चांस मिला।ड्ढr अकेले दम पर वह गेंद को विपक्षी गोलमुख तक ले गए लेकिन गोलकीपर को चकमा देने में सफल नहीं हो सके। अब भारतीय गोलची एड्रियन डिसूजा की बारी थी। पाक के खिलाफ जीत के हीरो रहे एड्रियन ने मलयेशिया के लगातार तीन हमलों अकेले दम पर विफल किया। भारत के लिए पहला गोल वें मिनट में संदीप सिंह के शॉट पर शिवेन्द्र सिंह ने डिफ्लेक्शन पर किया। 10वें मिनट में भारत को लगातार दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन गोल नहीं हुए। दूसर शॉर्ट कॉर्नर पर भारत को पेनल्टी स्ट्रोक जरूर मिल गया। संदीप सिंह ने इस पर कोई गलती नहीं की। हूटर बजने से ठीक पहले मलयेशिया के लिए एकमात्र गोल पेनल्टी कॉर्नर पर रहीम ने किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत 13 साल बाद फाइनल में