अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शेखर निरा टीवी कलाकार

यह ‘फ्लाप’ या ‘हिट’ की लड़ाई नहीं है। न ही छोटे परदे (टीवी) या बड़े परदे की। यह ‘रील लाइफ’ की भी लड़ाई नहीं है। बल्कि यह तो ‘रीयल लाइफ’ की लड़ाई है। यह बात शनिवार को ‘हिन्दुस्तान’ के साथ विशेष बातचीत में फिल्म अभिनेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने मुकाबले में पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से खड़े कांग्रेस उम्मीदवार और टीवी स्टार शेखर सुमन के बार में कही। शेखर सुमन की राजनीतिक छवि के बार में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि वे तो निरा टीवी कालाकार हैं। राजनीतिक व्यक्ति तो मैं ही हूं।ड्ढr ड्ढr श्री सिन्हा ने बिना शेखर सुमन के नाम लिये हुए कहा कि भगवान उनको सद्बुद्धि दें। मेरी शुभकामनाएं उनके साथ है। उन्होंने कहा कि वह पटना के आसमान में अचानक नहीं टपके हैं। बल्कि बीस साल से भाजपा के माध्यम से राजनीति में सक्रिय हैं। ग्लैमर की दुनिया से आने वालों के बार में तो वह यही कहेंगे कि जोश में नहीं बल्कि होश में रह कर संघर्ष के जरीए राजनीति में आयें। उन्होंने ने कहा कि उनकी ही पार्टी के कुछ लोगों ने साजिश करके शेखर सुमन को कांग्रस का उम्मीदवार बनाया है। आज जिस तरह यूपीए पूर देश में बिखर गया है, उसके मद्दे नजर कांग्रेस की हालत ‘ढ़ूंढते रह जाओगे’ वाली हो गई है। ऐसे में उसके किसी ‘टपके हुए’ उम्मीदवार का क्या हश्र होगा, भगवान ही मालिक हैं।ड्ढr ड्ढr उन्होंने दावा किया कि शेखर सुमन और उनके बीच कोई कांटे की टक्कर नहीं है। बल्कि टक्कर ही नहीं है। यह तो एक तरफ मैच है जिसका नतीजा भाजपा के झोली में गिरना तय है। अपने क्षेत्र पर कम ध्यान नहीं देने की बाबत एक सवाल पर उन्होंने कहा कि वह पार्टी के राष्ट्रीय स्तर के प्रचारक हैं और उनको देश के अन्य हिस्सो में भी पार्टी उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार के लिए जाना पड़ता है। फिर भी वह अपने क्षेत्र को ‘इग्नोर’ नहीं कर है। पटना साहिब क्षेत्र में अपने प्रचार की कमान उन्होंने भाजपा के ही अन्य नेताओं-स्वास्थ्य मंत्री नंदकिशोर यादव, विधायक नितीन नवीन, अरुण कुमार सिन्हा और विनोद यादव के हाथो में सौंप दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शेखर निरा टीवी कलाकार