अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकारात्मक सोच से उबरने की जरूरत

राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने कहा कि कुछ वर्षो से मानसिक रोगियों की संख्या बढ़ रही है। यह एक चुनौती है। इसके इलाज पर ध्यान देने की जरूरत है। लोगों में नकारात्मक सोच खत्म कर सकारात्मक सोच बढ़ाने के लिए मनो चिकित्सकों को और सार्थक प्रयास करने होंगे। वह 17 मई को सीआइपी के स्थापना दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।ड्ढr राज्यपाल ने कहा कि तेज रफ्तार जीवन ने लोगों की सोच संकीर्ण बना दी है। इस सोच को टीवी पर दिखायेजानेवाले कार्यक्रमों से बढ़ावा मिल रहा है। बच्चों में हिंसक प्रवृति बढ़ रही है।ड्ढr रांची विवि के वीसी डॉ एए खान ने कहा कि दिमाग के मैकेनिज्म को समझने के लिए रिसर्च किया जाना चाहिए। रांची विवि सीआइपी को स्वायत्तता दिलाने का प्रयास करगा। क्योंकि इसके बाद ही डीम्ड विवि का दर्जा इसे मिल सकता है। निदेशक डॉ एस हक निजामी ने इसे डीम्ड विवि का दर्जा दिये जाने की मांग की। मंच संचालन डॉ कौशिक, डॉ स्नेहल खांडकर और प्रणव प्रकाश चौधरी ने किया।ड्ढr बेस्ट को आवार्डड्ढr स्थापना दिवस समारोह में विभिन्न श्रेणी के बेस्ट को आवार्ड दिया गया। राज्यपाल की पत्नी चांद फरहाना ने इसे दिया। रसीडेंट डॉक्टर समीर कुमार प्रहराज, छात्रा सीमा राय, नर्स एलिजाबेथ सांगा, माली बिराू टोप्पो, मेल अटेंडेंट जमाहिर हुसैन, फीमेल अटेंडेंट यासमिन सुल्ताना, पियून बेक और बेस्ट वार्ड का आवार्ड कोनोली को मिला। राज्यपाल ने संस्था की वार्षिक रिपोर्ट एवं वेबसाइट भी जारी की। इस अवसर पर अमित खर, प्रो वीसी डॉ सलिल राय आदि मौजूद थे।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नकारात्मक सोच से उबरने की जरूरत