DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्स्ट क्लास के डब्बे में यात्रा कर रहे कामगार!

भारतीय रल ने फर्स्ट क्लास का डिब्बा काफी पहले खत्म कर दिया है। अब ट्रेनों में सिर्फ एसी, स्लीपर और जनरल क्लास के डिब्बे हैं। हालांकि कोल इंडिया के कामगार आज भी फर्स्ट क्लास में सफर कर रहे हैं। यह यात्रा सिर्फ एलटीसी-एलएलटीसी में हो रही है। टूर में भेजे जाने पर प्रबंधन इन्हीं कामगारों को एसी सेकेंड क्लास का भाड़ा देती है। कामगारों को एलटीसी और एलएलटीसी देने का समझौता जेबीसीसीआइ में हुआ था। तब रल में फर्स्ट क्लास हुआ करता था। वर्षो पहले डिब्बा खत्म होने के बाद भी इस रूल में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इस ओर श्रमिक नेता ध्यान ही नहीं देते हैं। इसमें कामगारों को इस मद में लगभग 6000 और 11000 रुपये मिलते हैं। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए उन्हें छह दिन और सात दिन छुट्टी लेनी होती है। बीच में नेशनल या पेड होली डे होने पर इसकी गणना भी नहीं होती है। कामगारों का कहना है कि जो स्थिति है, उसमें उन्हें कभी भी दंडित किया जा सकता है।ड्ढr मुख्यालय ठप करायेगा जेसीएमयूड्ढr ओवर टाइम के मुद्दे पर द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन ने सीसीएल मुख्यालय ठप कराने का निर्णय लिया है। महासचिव सनत मुखर्जी ने कहा कि लगातार ज्ञापन सौंपने के बाद भी प्रबंधन इस मामले पर ध्यान नहीं दे रहा है। आज भी कई जगह डेली रटेड को 6.35 रुपये एवं मंथली रटेड को 14.25 रुपये प्रति घंटा ओटी दिया जा रहा है। नियमत: बेसिक का डबल दिया जाना चाहिए। अन्य कंपनियों में यह लागू है। संशोधन आदेश शीघ्र नहीं निकाला गया, तो यह कदम उठाना पड़ेगा।ड्ढr 11 सदस्यों को ही बुलावाड्ढr कोल इंडिया प्रबंधन द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन के 11 सदस्यों को ही चेयरमैन पार्थ भट्टाचार्य से मिलने के लिए बुलाया है। वार्ता 23 मई को कोलकाता में 10.30 बजे से होनी है। पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व में सदस्य मिलेंगे।ड्ढr इ ऑक्शन 21 और 28 कोड्ढr सीसीएल में स्पॉट इ ऑक्शन स्कीम 21 और 28 मई 2008 को होगी। इसमें रल और रोड द्वारा कोल एवं कोल प्रोडक्ट की बिक्री बोली के माध्यम से की जायगी। ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फर्स्ट क्लास के डब्बे में यात्रा कर रहे कामगार!