DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-भूटान मिलकर लगाएँगे दो बिजली परियोजनाएँ

भारत और भूटान संयुक्त रूप से दो बड़ी जलविद्युत परियोजनाओं पुनत्सांगछू द्वितीय तथा मांग्देछू का निर्माण करेंगे। दोनों देश चार अन्य परियोजनाओं का विस्तृत अध्ययन भी शुरू करेंगे। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को यहाँ यह घोषणा की।ड्ढr विश्व के सबसे नए लोकतंत्र भूटान की नवनिर्वाचित संसद को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ये नई परियोजनाएँ 2020 तक भूटान से भारत को 5000 मेगावाट बिजली निर्यात के लक्ष्य को हासिल करने में मददगार साबित होगी।ड्ढr डॉ. सिंह ने कहा कि चूखा, कुरिछू व ताला परियोजनाओं से जब बिजली पैदा होगी तो बिहार, पश्चिम बंगाल तथा दिल्ली के मकान रोशन होंगे और भूटान को दौलत मिलेगी। उन्होंने कहा, ‘हमारा द्विपक्षीय आर्थिक संबंध अगले पाँच वर्षो में बढ़कर 100 अरब रुपए तक पहुँच जाएगा।’ड्ढr डॉ. सिंह ने यह भी घोषणा की कि भूटान से रेल संपर्क कायम करने के लिए भारत जल्द ही पटरियाँ बिछाने का काम शुरू करेगा। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के हाशिमारा से भूटान के फुंत्सोलिंग तक रेलमार्ग का निर्माण किया जाएगा। यह रेलमार्ग पं. जवाहर लाल नेहरू की भूटान यात्रा के 50 वर्ष पूरे होने के मौके पर बनाया जाएगा।ड्ढr प्रधानमंत्री ने नेहरू-वांग्चुक छात्रवृत्ति योजना के तहत भारत के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों में भूटानी विद्यार्थियों को प्रवेश के लिए प्रोत्साहित करने का भी एलान किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत-भूटान मिलकर लगाएँगे दो बिजली परियोजनाएँ