DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नरेगा में 290 करोड़ से मिट्टी का कार्य होगा

नरेगा में 20 करोड़ रुपए की लागत से बाढ़ सुरक्षात्मक योजना में मिट्टी का कार्य होगा। जल प्रबंधन क्षेत्र की योजनाओं के कार्यान्वयन पर लगभग 580 करोड़ रुपए खर्च करने की योजना बनेगी जिसपर नवंबर से काम शुरू होगा। इसके तहत नहरों के तल से गाद की सफाई, नहरों के किनार मरम्मती और नहरों के सेवा पथों की मरम्मत कार्य में मिट्टी का काम कराया जाएगा। शनिवार को इस मुद्दे पर जल संसाधन मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने उप विकास आयुक्तों के साथ बैठक की। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव अनूप मुखर्जी, पशुधन विकास एवं मत्स्य पालन विभाग के सचिव, जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर और विभाग के सलाहकार ब्रजभूषण प्रसाद सिंह भी उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr मंत्री ने कहा कि नरगा के तहत जल एवं बाढ़ प्रबंधन, पशुधन विकास और मत्स्य पालन योजना को व्यापक स्तर पर कार्यान्वित करने की योजना है जिससे रोजगार भी पैदा हो। जल संसाधन विभाग के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर और सुपरीटेंडिंग इंजीनियर डीडीसी और डीएम के संपर्क में रहेंगे। आपसी समन्वय से योजना का कार्यान्वयन करंगे। योजना की मॉनीटरिंग डीडीसी तथा डीएम के स्तर पर की जाएगी। जल संसाधन विभाग के सचिव अजय नायक ने कहा कि योजना के कार्यान्वयन के दौरान संरचनाओं, स्लुईस गेट एवं पुल-पुलिया का निर्माण विभाग अपने पैसे से कराएगा। बाढ़ प्रबंधन कार्य से जुड़ी योजनाएं जैसे तटबंधों की मरम्मति, रिंग बांध, छड़की एवं जमीन्दारी बांधों की मरम्मत 15 जून से पहले करायी जानी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नरेगा में 290 करोड़ से मिट्टी का कार्य होगा