DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माकपा नेता की पिस्तौल भी साथ ले गए अपराधी

जिले में शुक्रवार की रात अपराधियों ने अपना राज चलाया। हथियारों से लैस अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग की, तीन की मौत के घाट उतारा और सेफ निकल भी गए। विभूतिपुर में पूर्व प्रखंड प्रमुख व माकपा नेता तथा उनके दोस्त को भून डाला और उाियार में शिक्षा समिति के सचिव की हत्या की। विभूतिपुर ए.प्र. के अनुसार अपराधी माकपा नेता विरन्द्र प्रसाद सिंह का लाइसेंसी पिस्तौल लेकर चलते बने।ड्ढr ड्ढr वे मिथिला मिल्क यूनियन के प्रबंध निदेशक मंडल के सदस्य भी थे। मरने वालों में रामबदन सिंह भिलाई स्टील सिटी के रिटायर्ड कर्मचारी थे। बताया जाता है कि गांव के महेन्द्र सिंह के द्वादश कर्म के भोज में भाग लेकर माकपा नेता अपने सहकर्मियों के साथ घर लौट रहे थे। ठाकुरबाड़ी के निकट सड़क किनार झाड़ी में छिपे अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी जिससे लोगों में भगदड़ मच गई। इसी बीच अपराधियों ने पूर्व प्रमुख को तीन गोली दाग दी। साथ ही माकपा नेता के दोस्त रामबदन सिंह के सीने में भी एक गोली उतार दी। रामबदन तो घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। जबकि माकपा नेता की मौत अस्पताल ले जाने के क्रम में हुई। परिानों के चीत्कार से आसपास का माहौल गमगीन हो उठा। सूचना पर एसपी सुरन्द्र लाल दास, डीएसपी चंद्रिका प्रसाद के नेतृत्व में आधा दर्जन थाने की पुलिस पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया। मौके पर स्थानीय विधायक रामदेव वर्मा, माकपा जिला मंत्री अजय कुमार सहित जिला सचिव मंडल के सदस्यों एवं प्रशासन के बीच वार्ता के बाद पुलिस ने दोनों लाशों को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए समस्तीपुर भेज दिया। मृतक के भाई देवेन्द्र सिंह के बयान पर पुलिस ने नामजद प्राथमिकी दर्ज की है। प्राथमिकी में घटना का कारण मृतक द्वारा रामनाथ हत्याकांड की पैरवी किया जाना बताया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माकपा नेता की पिस्तौल भी साथ ले गए अपराधी