अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालू व नीतीश राज में कोई फर्क नहीं

भाकपा (माले) के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य की राय में लालू राज व नीतीश राज में कोई बुनियादी फर्क नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अबतक एक भी वायदे पूर नहीं किए हैं। पलायन नहीं रुका और न ही एक भी पैसा पूंजी निवेश ही हुआ है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई सहित सभी मोर्चो पर राज्य सरकार फेल है। उन्होंने कर्मचारियों से आम जनता, किसान, मजूदर, छात्र-युवा के साथ मिलकर महंगाई सहित इन मुद्दों पर बड़ा आंदोलन करने का आह्वान किया है। केन्द्र से सभी स्तरों पर न्यूनतम मजदूरी निर्धारित करने की भी मांग की।ड्ढr ड्ढr माले महासचिव श्री भट्टाचार्य शनिवार को कामरड योगेश्वर गोप नगर (विद्यापति भवन) में तीन दिवसीय बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ(गोप गुट) के स्वर्ण जयंती वर्ष पर आयोजित 18 वें राज्य सम्मेलन का उद्घाटन कर रहे थे। अध्यक्षता अध्यक्ष रामनारायण राय, सुरश प्र.सिंह, कुमार दिनेश सिंह, जितेन्द्रनाथ शर्मा, सुरशचंद्र सिंह व माधव प्रसाद सिंह की अध्यक्ष मंडली ने की। इस अवसर पर अध्यक्ष ने महासंघ के पुराने व सक्रिय पदाधिकारियों को स्मृतिचिह्न् देकर सम्मानित भी किया। पूर्व अध्यक्ष योगेश्वर गोप, शंकर प्रसाद श्रीवास्तव व वासुदेव सिन्हा को भावभनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इसके पूर्व झंडोत्तोलन के साथ सम्मेलन का आगाज हुआ। माले नेता श्री भट्टाचार्य ने कर्मचारियों को अपने आंदोलन को और मजबूत बनाने व इसका दायरा बढ़ाने की अपील की। अन्यथा सरकार की बदनामियों का खामियाजा इन्हें भी भुगतना पड़ेगा। बढ़ती हुई महंगाई को लेकर वे केन्द्र की संप्रग सरकार पर भी जमकर बरसे। छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को नाकाफी बताते हुए विषमताओं की चर्चा की। इस अवसर पर एक्टू के महासचिव स्वपन मुखर्जी, माले के प्रदेश सचिव नंदकिशोर प्रसाद, आरएन ठाकुर, सरोज चौबे,मीना तिवारी,तारिणी प्रसाद कामथ, चक्रधर प्र.सिंह, श्यामनन्दन प्र.सिंह,अनिल अंशुमन, नारायण पूव्रे, भारती कुमार, संतोष कुमार ने भी अपने विचार रखे। बाद में प्रतिनिधि सत्र का उद्घाटन स्वपन मुखर्जी ने किया। संचालन महासचिव रामबली प्रसाद ने किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लालू व नीतीश राज में कोई फर्क नहीं