अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस कस्टडी में वृद्ध मरा, भड़की झरिया

झरिया और बोर्रागढ़ पुलिस की बर्बरता के खिलाफ शनिवार की रात लोगों ने काफी हंगामा मचाया। गुस्साये लोगा बोर्रागढ़ ओपी प्रभारी पर टूट पड़े, जिससे उन्हें भागना पड़ा।ड्ढr लोगों ने देर रात शव के साथ बनियाहीर के पास झरिया-धनबाद मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। वे झरिया और बोर्रागढ़ थानेदार को निलंबित कर उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग कर रहे थे, चेतावनी दी कि अगर कार्रवाई नहीं हुई, तो वे रविवार को चक्काजाम कर देंगे। लोगों का कहना था कि पुलिस ने क्रूरता की हद पार करते हुए चौथाई कुल्ही निवासी 75 वर्षीय वृद्ध अली अकबर अंसारी को बाइक चोरी के आरोप में दो लोगों के साथ पकड़कर जमकर पिटाई की। इसके बाद दो को बोर्रागढ़ पुलिस के हवाले कर दिया। अली अकबर की पिटाई से मौत के बाद पुलिस ने शव को कब्रिस्तान में दफनाने की कोशिश की। आरोप है कि पुलिस शव को लावारिस घोषित कर गुनाह छुपाने का प्रयास कर रही थी। जब लोगों को भनक लगी, तो सैकड़ों की संख्या में पहुंच गये। नारबाजी की, पुलिस भाग खड़ी हुई। इधर, पुलिस इस मामले में सफाई दे रही है, लेकिन उसकी सफाई जख्मों के सामने झूठी साबित हो रही थी। झरिया थाना प्रभारी का कहना है कि हसन और शमीम को दोपहर में बोर्रागढ़ ओपी को सौंप दिया गया, जबकि अकबर को होरिलाडीह रलवे क्रासिंग के समीप स्वस्थ अवस्था में छोड़ा गया। उन्होंने पिटाई से इनकार करते हुए कहा कि कुछ लोग शव को दफना रहे थे, जिन्हें रोका गया।ड्ढr रविवार को पोस्टमार्टम कराया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस कस्टडी में वृद्ध मरा, भड़की झरिया